किसानों के समर्थन में 3000 ट्रैक्टरों के साथ कांग्रेस का हल्लाबोल, आलू की माला पहनाकर हुआ कमलनाथ का स्वागत

देपालपुर में मध्य प्रदेश कांग्रेस ने कृषि कानूनों के विरोध में किसान रैली की. इसमें पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिरकत की और बीजेपी पर निशाना साधा. पढ़िए पूरी खबर...

किसानों के समर्थन में 3000 ट्रैक्टरों के साथ कांग्रेस का हल्लाबोल, आलू की माला पहनाकर हुआ कमलनाथ का स्वागत
मंच पर कांग्रेस नेताओं के साथ पूर्व सीएम कमलनाथ.

इंदौर: नए कृषि कानूनों पर सियासी बवाल मचा हुआ है. एक तरफ किसान आंदोलन पर डटे हैं तो वहीं विपक्षी दलों ने भी विरोध तेज कर दिया है. रविवार को इंदौर के देपालपुर में मध्य प्रदेश कांग्रेस नेताओं ने किसानों के समर्थन में किसान रैली आयोजित की. इसमें शिकरत करने गए पूर्व सीएम कमलनाथ हैलीपेड से सभा स्थल तक ट्रैक्टर पर सवार होकर पहुंचे. जहां पूर्व विधायक अंतर सिंह दरबार ने आलू की माला पहनाकर उनका स्वागत किया. किसान रैली को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने केंद्र सरकार पर कई आरोप लगाए और हमला बोला.

'कृषि कानून हैं काले कानून'
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कृषि कानूनों को काले कानून करार देते हुए कहा कि कृषि कानून से बड़े-बड़े उद्योगपतियों को मंडी का दर्जा मिल जाएगा. मंडियों का निजीकरण हो जाएगा. किसान बड़े-बड़े उद्योगपतियों का गुलाम बन जाएगा. मैं मोदीजी से पूछना चाहता हूं कि कोई उद्योगपति समाजसेवा के लिए तो नहीं आएगा. इसलिए कृषि के निजीकरण को बंद कीजिए.

ये भी पढ़ें: शिवराज सरकार के 10 महीनों में हुए 3000 से ज्यादा तबादले, कांग्रेस ने लगाया ट्रांसफर स्कैम का आरोप

बीजेपी पर लगाया ये आरोप
कमलनाथ ने कहा कि जब किसान इस कानून को नहीं चाहता को सरकार क्यों जबरन उन पर ये कानून थोप रही है. बीजेपी हमेशा ध्यान मोड़ने की राजनीति करती है. 2014 में युवाओं को रोजगार की बात करते थे. 2019 में पाकिस्तान और राष्ट्रवाद की बात करने लगे. यह लोग कांग्रेस से राष्ट्रवाद की परिभाषा पूछते हैं, जबकि इनकी पार्टी में कोई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी नहीं रहा. 

राष्ट्रवाद के नाम पर गुमराह कर रही बीजेपी
पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी वाले राष्ट्रवाद के नाम पर लोगों को गुमराह कर रहे हैं. राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा उगा रहे हैं और पीछे से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा रहे हैं. आप गुमराह और भ्रमित करने की राजनीति पहचानिए. शिवराज जब तक झूठ न बोलें उनका खाना नहीं पचता. कमलनाथ ने कहा कि 15 हजार घोषणाएं अभी तक पूरी नहीं हुईं. इसलिए आप कमलनाथ और विशाल पटेल का साथ मत दीजिए, लेकिन आप लोग सच्चाई का साथ जरूर दीजिए. अभी पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव में आप लोग कांग्रेस का सहयोग करें. 

सज्जन सिंह वर्मा ने पीएम मोदी पर साधा निशाना
इस रैली में पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, जीतू पटवारी, बाला बच्चन, अरुण यादव समेत मालवा निमाड़ के सभी कांग्रेस विधायक और कार्यकर्ता करीब 3000 ट्रैक्टर लेकर शामिल हुए थे. मंच से पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने पीएम मोदी से कहा कि अगर गुलामी करनी हो तो किसानों की गुलामी करो, सेना में किसी अडानी अम्बानी के बेटे नहीं हैं, बल्कि किसान का ही बेटा देश की रक्षा करता है. इस दौरान उन्होंने कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से कहा कि तुमसे से बेहतर तो हरसिमरत कौर हैं, जिन्होंने कृषि कानूनों के विरोध में मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया.

ये भी पढ़ें: ट्रैक्टर चलाने के बाद बोले कमलनाथ - मेरा क्या दोष था कि मेरी सरकार गिरा दी?

ये भी पढ़ें: 'पंख अभियान' की शुरुआत कर CM ने मनाया राष्ट्रीय बालिका दिवस, जानें अभियान के बारे में

WATCH LIVE TV