सारंग के बाद भदौरिया के निशाने पर नेहरू, बोले- ''गरीबी हटाने के लिए कांग्रेस ने सिर्फ और सिर्फ नारे दिए''

प्रदेश सरकार के सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए गरीबी के लिए नेहरू सरकार और इंदिरा सरकार को जिम्मेदार बता दिया. 

सारंग के बाद भदौरिया के निशाने पर नेहरू, बोले- ''गरीबी हटाने के लिए कांग्रेस ने सिर्फ और सिर्फ नारे दिए''
अरविंद भदौरिया, सहकारिता मंत्री, मध्य प्रदेश

भोपालः शिवराज सरकार में मंत्री विश्वास सारंग के देश के पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू पर दिए गए महंगाई वाले बयान पर अभी सियासत जारी है. इस बीच शिवराज सरकार के एक और मंत्री ने ऐसा ही बयान देते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा है. 

कांग्रेस पर मंत्री अरविंद भदौरिया ने साधा निशाना 
प्रदेश सरकार के सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए गरीबी के लिए नेहरू सरकार और इंदिरा सरकार को जिम्मेदार बता दिया. उन्होंने कहा कि ''अगर 1950 और 51 के दौरान ठीक तरह से काम किया गया होता तो आज यह स्थिति नहीं होती, गरीबी हटाने के लिए कांग्रेस ने सिर्फ और सिर्फ नारे दिए हैं, जबकि भारतीय जनता पार्टी की सरकारों ने काम किया है, चाहे वह अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार को या फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार, चाहे फिर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार, गरीबी हटाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के नेता और सरकारें लगातार काम कर रही हैं. कांग्रेस सिर्फ और सिर्फ आरोप लगाती है. इसलिए इस तरह की टिप्पणी कांग्रेस को नहीं करनी चाहिए.''

दरअसल, अरविंद भदौरिया से पहले कांग्रेस नेता भूपेंद्र गुप्ता ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि था कि ''भारतीय जनता पार्टी और जनसंघ की तकलीफ है कि 47 तक अंग्रेजों की जासूसी की. अब बार-बार लौटकर फिर 47 पर आ जाते हैं, उस समय जब जवाहरलाल नेहरू थे वह सूरज थे लोग उनके साथ खड़े रहे इनका यह पुराना फर्स्ट्रेशन है जो आज तक नजर आ रहा है. इंदिरा गांधी हो या नेहरू या फिर कांग्रेस सभी ने देश के लिए काम किया है. जुगनू और सूरज की लड़ाई में हमेशा सूरज की विजय होगी''

विश्वास सारंग के बयान के बाद शुरू हुआ विवाद 
दरअसल, पूरा मामला विश्वास सारंग के बयान के बाद शुरू हुआ है.  विश्वास सारंग ने कहा था कि ''देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के भाषण के कारण देश की अर्थव्यवस्था (Economy) बिगड़ी है. इसके लिए उन्होंने कांग्रेस को दिल्ली में दस जनपथ के बाहर प्रदर्शन करने की सलाह तक दे डाली. मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि महंगाई एक-दो दिन में नहीं बढ़ती है और अर्थ व्यवस्थाओं की नींव एक-दो दिन में नहीं रखी जाती है. 15 अगस्त 1947 को लाल किले की प्राचीर से जवाहरलाल नेहरू ने जो भाषण दिया था. उसी भाषण के कारण देश की अर्थव्यवस्था बिगड़ी है.''

मंत्री सारंग के इस बयान के बाद प्रदेश में सियासत शुरू हो गई. कांग्रेस नेताओं ने बीजेपी पर निशाना साधना शुरु कर दिया. जबकि एक कांग्रेस नेता पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू द्वारा लिखी गई किताब विश्वास सारंग को भेट करने पहुंच गए थे. जबकि उनके खिलाफ प्रदर्शन भी किया. वहीं बीजेपी भी इस मामले में आक्रमक नजर आ रही है. 

ये भी पढ़ेंः नेहरू का वो भाषण; जिसे शिवराज के मंत्री महंगाई बढ़ने और अर्थव्यवस्था बिगड़ने का जिम्मेदार बता रहे

WATCH LIVE TV