close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उज्जैन में पुलिस और गुर्जर गैंग के बीच मुठभेड़, 6 आरोपी गिरफ्तार

देर रात पुलिस को लोकेशन की जानकारी मिलने के बाद पुलिस उन्हें पकड़ने गई थी इसी दौरान बदमाशों ने पुलिस वाहन पर फायर किया जिसके जवाब में पुलिस की तरफ से भी क्रॉस फायरिंग की गई. जिसमें रौनक गुर्जर को पैर में तीन गोलियां लगीं.

उज्जैन में पुलिस और गुर्जर गैंग के बीच मुठभेड़, 6 आरोपी गिरफ्तार
हफ्ता वसूली के चलते जानलेवा हमले किए गए थे. (फाइल फोटो)

उज्जैनः मध्य प्रदेश के उज्जैन में आंतक का पर्याय बन चुके कुख्यात बदमाश रौनक गुर्जर और पुलिस के बीच देर रात मुठभेड़ हुई. जिसमें रौनक गुर्जर को पैर में तीन गोलियां लगीं. रौनक गुर्जर और उसके साथियों ने एक हफ्ते में तीन बार गोली बारी की घटना को अंजाम दिया था. जिसके बाद पुलिस सरगर्मी से गुर्जर गैंग और उसके साथियों की तलाश में जुटी थी. आज देर रात पुलिस को लोकेशन की जानकारी मिलने के बाद पुलिस उन्हें पकड़ने गई थी इसी दौरान बदमाशों ने पुलिस वाहन पर फायर किया जिसके जवाब में पुलिस की तरफ से भी क्रॉस फायरिंग की गई. जिसमें रौनक गुर्जर को पैर में तीन गोलियां लगीं.

पुलिस ने गैंग के 6 सदस्यों को गिरफ्तार किया है. रौनक गुर्जर गैंग ने सप्ताह भर के भीतर अलग-अलग लोगों पर गोलियां दागी थीं. इनमें रौनक का ममेरा भाई भी शामिल है. घटना के बाद से ही सकते में पड़ी पुलिस ने इन्हें पकड़ने के लिए 40 हजार का ईनाम घोषित किया था. इसके अलावा गुंडे रौनक द्वारा बनाया गया अवैध मकान भी पुलिस ने तुड़वा दिया था. रौनक गैंग के बीजेपी के कई बड़े नेताओ के साथ फोटो भी सामने आये हैं, जिसमें वो अपनी राजनैतिक पंहुच बयां कर रहा है. 

नोएडाः फर्जी IPS और PRO बनकर लूट रहे थे मौज, पुलिस पकड़ा तो बता दिया सच

उज्जैन के कुख्यात बदमाश रौनक गुर्जर और उसकी गैंग के 6 सदस्यों को पुलिस ने पकड़ लिया है. गैंग के कुल 6 सदस्य अब तक पुलिस गिरफ्त में आ चुके है, लेकिन इन्हें पकड़ने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करना पड़ी. देर रात रौनक गुर्जर की लोकेशन ट्रेस होने पर जब पुलिस की टीम मौके पर पहुंची तो कार में मौजूद रौनक और उसके एक साथी ने पुलिस पार्टी पर अंधा-धुंध गोलियां बरसाईं. रौनक और उसके साथी ने 10 गोलियां पुलिस पर चलाई. जवाबी कार्रवाई में पुलिस को भी गोलियां चलानी पड़ी. 

मथुरा में युवक के हत्‍यारोपी मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार, अपहरण कर मांगी थी फिरौती

वर्चस्व की लड़ाई के चलते रौनक ने उसके ममेरे भाई मोंटू गुर्जर को गोली मारकर जानलेवा हमला किया था. इसके अलावा दो व्यापारियों पर हफ्ता वसूली के चलते जानलेवा हमले किए गए थे. एक के बाद एक घटनाओं को अंजाम देने के बाद भी ये गुंडे पुलिस गिरफ्त से दूर थे. जिसके चलते इन पर एसपी ने 40 हजार का ईनाम घोषित किया था.