इंसानी रिश्तों से मिला धोखा तो खत्म कर दी जिंदगी, लेकिन वफादार कुत्तों ने आखिर तक नहीं छोड़ा साथ

पुलिस को सूचना देने के बाद जब पलक का शव बाहर निकाला तो दोनों डॉगी भी साथ आ गए. एक डॉगी पीछे की सीट पर रखे शव के ऊपर लिपटकर बैठ गया. दूसरा डॉगी अगली सीट पर बैठ गया. 

इंसानी रिश्तों से मिला धोखा तो खत्म कर दी जिंदगी, लेकिन वफादार कुत्तों ने आखिर तक नहीं छोड़ा साथ

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर के तेजाजी नगर थाना क्षेत्र के शिवधाम कॉलोनी में रहने वाली 35 वर्षीय महिला द्वारा फ्लैट में फांसी लगाकर जान देने का मामला सामने आया है. परिजन जब उसका शव एमवायएच ले जाने लगे तो उसके दो डॉगी भी कार में बैठ गए. एक डॉगी शव के ऊपर बैठा और दूसरा कार में आगे बैठा रहा. अस्पताल में अपने मालकिन के साथ डाॅगी के प्रेम को देख लोग दुखी हो गए.

तेजाजी नगर पुलिस के अनुसार शिवधाम कॉलोनी में रहने पलक पति जितेश बागेचा ने दो दिन पहले फांसी लगा ली. गुरुवार रात 8 बजे पलक से मिलने के लिए उसका एक दोस्त फ्लैट पहुंचा तो दरवाजा अंदर से बंद था. फिर उसने पलक के घर पर फोन लगाकर जानकारी दी. रात को पलक का भाई और अन्य लोग फ्लैट पर पहुंचे. वहां देखा कि पलक का शव फंदे पर टंगा था और उसके दोनों पालतू डॉगी पास में घूम रहे थे.

यह भी पढ़ें- अगर आप मकान किराए पर देते हैं, तो एक बार जरूर पढ़ लीजिए ये खबर

पुलिस को सूचना देने के बाद जब पलक का शव बाहर निकाला तो दोनों डॉगी भी साथ आ गए. एक डॉगी पीछे की सीट पर रखे शव के ऊपर लिपटकर बैठ गया. दूसरा डॉगी अगली सीट पर बैठ गया. अस्पताल पहुंचने पर शव को कार से उतारने तक यह दोनों श्वान महिला को निहारते रहे और अपना दुख प्रकट करते रहे. अपने मालिक की मौत से दुखी इन श्वानों की चर्चा पूरे अस्पताल में फैल गई. मिली जानकारी अनुसार प्रति द्वारा छोड़े जाने के बाद से मृतका पूरी तरह से टूट गई थी और अपने दो डॉगी के साथ एक प्लॉट में रह रही थी.