Breaking News
  • FATF की बैठक में पाकिस्‍तान को फिर झटका, ग्रे-लिस्‍ट से बाहर निकलने के मंसूबों पर फिरा पानी
  • कार्ति चिदंबरम को ब्रिटेन और फ्रांस जाने की कोर्ट से मिली इजाजत
  • अफगानिस्‍तान: राष्‍ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव में पहले राउंड में अशरफ गनी ने जीत हासिल की

महबूबा मुफ्ती ने फिर उठाया सेना पर सवाल, कहा- एयर स्ट्राइक में लक्ष्य साधने में रहे नाकाम

महबूबा ने एक ट्वीट में पूछा, ‘‘रहस्य नहीं है कि बालाकोट एयरस्ट्राइक नियत लक्ष्य को निशाना साधने में नाकाम रही. क्या इस कारण कि प्रधानमंत्री ने वायु सेना की सलाह की उपेक्षा की और खराब मौसम में एयरस्ट्राइक करने की अनुमति दी.’’ 

महबूबा मुफ्ती ने फिर उठाया सेना पर सवाल, कहा- एयर स्ट्राइक में लक्ष्य साधने में रहे नाकाम
फाइल फोटो

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बालाकोट एयरस्ट्राइक के दौरान बादल संबंधी टिप्पणी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना की है. प्रधानमंत्री ने कहा है कि भारतीय वायु सेना के विमानों को बादल छाए रहने के कारण बालाकोट एयरस्ट्राइक के दौरान पाकिस्तानी रडार से बचने में मदद मिली थी. महबूबा ने पूछा कि क्या प्रधानमंत्री को वायु सेना की सलाह की उपेक्षा कर खराब मौसम में ऑपरेशन चलाने के लिए कहने का अधिकार है.

महबूबा ने एक ट्वीट में पूछा, ‘‘रहस्य नहीं है कि बालाकोट एयरस्ट्राइक नियत लक्ष्य को निशाना साधने में नाकाम रही. क्या इस कारण कि प्रधानमंत्री ने वायु सेना की सलाह की उपेक्षा की और खराब मौसम में एयरस्ट्राइक करने की अनुमति दी.’’ 

 

 

उन्होंने, ‘‘बादल छाए रहने से जुड़ा तर्क शर्मनाक है. मुझे फिर से याद आता है, आरजी (कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी) को पप्पू क्यों कहा गया?’’ महबूबा ने कहा, ‘‘बालाकोट एयरस्ट्राइक की सचाई पर सवाल उठाने के लिए मुझपर जमकर निशाना साधा गया. लेकिन बादल संबंधी भारी भूल पर पाकिस्तानी मीडिया और पत्रकारों द्वारा ट्रोल को देखना बहुत शर्मसार करने वाली बात है. ’’ 

 

नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने भी मोदी की टिप्पणी के लिए उन पर हमला किया. उन्होंने ट्वीट किया, ‘'पाकिस्तानी रडार बादलों को भेद नहीं सकते. यह सामरिक जानकारी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो भविष्य के हवाई हमलों की योजना बनाते समय महत्वपूर्ण होगा.’’