नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी ने चंडीगढ़ लोकसभा सीट से मांगा कांग्रेस का टिकट

पूर्व रेल मंत्री पवन कुमार बंसल और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी भी चंडीगढ़ से टिकट की दौड़ में शामिल हैं.

नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी ने चंडीगढ़ लोकसभा सीट से मांगा कांग्रेस का टिकट
अमृतसर (पूर्व) की पूर्व विधायक और पूर्व मुख्य संसदीय सचिव, नवजोत कौर ने शुक्रवार को चंडीगढ़ कांग्रेस को अपना आवेदन सौंपा. (फोटो साभार - ANI)

चंडीगढ़: पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी और पूर्व विधायक नवजोत कौर सिद्धू ने आगामी लोकसभा चुनाव में चंडीगढ़ से कांग्रेस टिकट के लिए दावा पेश किया है. नवजौत कौर द्वारा दावा पेश किए जाने के साथ ही केंद्रशासित प्रदेश से कांग्रेस के टिकट के दावेदारों की संख्या तीन हो गई है.

पूर्व रेल मंत्री पवन कुमार बंसल और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी भी चंडीगढ़ से टिकट की दौड़ में शामिल हैं. बीजेपी सांसद किरण खेर लोकसभा में अभी चंडीगढ़ का प्रतिनिधित्व कर रही हैं.

नवजौत कौर ने शुक्रवार को सौंपा अपना आवेदन
अमृतसर (पूर्व) की पूर्व विधायक और पूर्व मुख्य संसदीय सचिव, नवजोत कौर ने शुक्रवार को चंडीगढ़ कांग्रेस को अपना आवेदन सौंपा. उन्होंने चंडीगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा को लिखा,‘मैं आगामी लोकसभा चुनाव में केंद्रशासित प्रदेश चंडीगढ़ निर्वाचन क्षेत्र से लड़ने के लिए आपके विचारार्थ अपना आवेदन सौंप रही हूं. मेरे काम का सारा रिकॉर्ड संलग्न है. मुझे उम्मीद है कि आप मेरे अनुरोध पर विचार करेंगे और मुझे इस सुंदर शहर के लोगों की सेवा करने का मौका देंगे.’

नवजोत कौर ने शनिवार को कहा, 'प्रतिभा पलायन पर रोक और यहां के युवाओं को नौकरी दिलाना पाना मेरा एजेंडा (चंडीगढ़ के लिए) होगा.'

बंसल और तिवारी के भी टिकट के लिए दावेदारी करने के बारे में पूर्व विधायक ने कहा,'यह फैसला (टिकट देने का) पार्टी को करना है. अगर पवन बंसल को टिकट मिलता है, तो मैं उनकी मदद में सबसे आगे रहूंगी.’

बंसल को यकीन 'मुझे मिलेगा टिकट'
चंडीगढ़ से चार बार सांसद रह चुके बंसल ने विश्वास जताया कि पार्टी आलाकमान उन पर विश्वास करेगा और उन्हें टिकट देगा. उन्होंने कहा कि हर किसी को कहीं से भी टिकट के लिए आवेदन करने का अधिकार है. लेकिन इस बारे में फैसला पार्टी आलाकमान को करना है. उन्हें पूरा यकीन है कि चंडीगढ़ में उनके काम की वजह से पार्टी निश्चित रूप से उन पर विश्वास करेगी और टिकट देगी.

(इनपुट - भाषा)