close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रामालिंगम मर्डर केस में एनआईए ने म्‍यान अहमद शाली को किया गिरफ्तार

एनआईए को अपनी जांच में पता चला था कि मृतक रामलिंगम का अभियोगात्मक गतिविधियों में लिप्‍त पीएफआई और दवाह एक्टिविस्‍ट के साथ विवाद था. 

रामालिंगम मर्डर केस में एनआईए ने म्‍यान अहमद शाली को किया गिरफ्तार
5 फरवरी को रामालिंगम की तमिलनाडु के थिरुवदिमाराधुर इलाके में नृशंस हत्‍या कर दी गई थी. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: रामालिंगम मर्डर केस में नेशनल इन्‍वेटिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने म्‍यान अहमद शाली को गिरफ्तार किया है. 51 वर्षीय म्‍यान अहमद शाली मूल रूप से तमिलनाडु के तिरुनेलवेली जिले के थेकासी इलाके का रहने वाला है. एनआईए के अनुसार, रामलिंगम मर्डर केस को मूल रूप से तंजावुर जिले के थिरुवदिमाराधुर पुलिस स्टेशन ने दर्ज किया था. 

उन्‍होंने बताया कि रामलिंगम की पीएफआई और एसडीपीआई कार्यकर्ताओं ने 5 फरवरी को हत्‍या कर दी थी. रामालिंगम पर हमला कर नृशंस हत्या करने के मामले में तंजावुर जिला पुलिस ने मामल दर्ज कर अपनी जांच शुरू की थी. बाद में, 7 मार्च को इस मामले को एनआईए के सुपुर्द कर दिया गया था. एनआईए को अपनी जांच में पता चला था कि मृतक रामलिंगम का अभियोगात्मक गतिविधियों में लिप्‍त पीएफआई और दवाह एक्टिविस्‍ट के साथ विवाद था. 

उन्‍होंने बताया कि आरोपी शाली दवाह टीम का मुखिया था. 5 फरवरी को हुई एक बैठक में पीएफआई और एसडीपीआई के एक्टिविस्‍ट ने रामालिंगम पर हमला कर हत्‍या करने की साजिश रची थी. इस साजिश में आरोपी शाली भी शामिल था. साजिश के तहत, आरोपियों ने रामालिंगम पर हमलाकर उसकी हत्‍या कर दी थी. 

उन्‍होंने बताया कि आरोपी को जल्‍द ही चेन्‍नई की स्‍पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा. एनआईए कोर्ट से आगे की जांच के लिए आरोपी शाली की रिमांड देने का अनुरोध करेगी.