close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

केरल को दहलाने की तैयारी में था श्रीलंका ब्लास्ट का मास्टरमाइंड, NIA ने किया गिरफ्तार

पूछताछ के दौरान, रियास ने खुलासा किया कि वह पिछले एक साल से ज्यादा समय से हाशिम के भाषणों/ वीडियो का अनुसरण कर रहा था. विवादास्पद इस्लामी प्रचारक जाकिर नाइक के भाषणों को भी वह गौर से सुनता था.

केरल को दहलाने की तैयारी में था श्रीलंका ब्लास्ट का मास्टरमाइंड, NIA ने किया गिरफ्तार
श्रीलंका के बाद केरल में धमाके की तैयारी में था आतंकी जहरान हाशिम.

नई दिल्ली/कोच्चि: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने श्रीलंका में हुए विस्फोटों के मास्टरमाइंड जहरान हाशिम के अनुयायी एक शख्स को केरल में आत्मघाती हमले की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किया है. एनआईए के प्रवक्ता ने बताया कि पलक्कड़ निवासी 29 वर्षीय रियास ए उर्फ रियास अबू बकर उर्फ अबू दुजाना को आईएसआईएस मॉडयूल मामले में रविवार को हिरासत में लिया गया. पूछताछ के दौरान, रियास ने खुलासा किया कि वह पिछले एक साल से ज्यादा समय से हाशिम के भाषणों/ वीडियो का अनुसरण कर रहा था. विवादास्पद इस्लामी प्रचारक जाकिर नाइक के भाषणों को भी वह गौर से सुनता था.

प्रवक्ता ने कहा, ‘उसने स्वीकार किया कि वह केरल में आत्मघाती हमले को अंजाम देने की फिराक में था.’ प्रवक्ता ने बताया कि रियास को बुधवार को कोच्चि में एनआईए की अदालत में पेश किया जाएगा. 

सीरियल ब्लास्ट में 253 लोगों की मौत
इससे पहले श्रीलंका में 21 अप्रैल ईस्टर के दिन हुए बम विस्फोटों के मुख्य संदिग्ध की बहन ने कहा था कि उसके परिवार के 18 सदस्य लापता हैं और उसने हमलों और छापों के बाद इनके मारे जाने की आशंका जताई है. मोहम्मद हाशिम मथानिया, मोहम्मद जहरान हाशिम की बहन है, जिस शख्स के बारे में श्रीलंकाई अधिकारियों का मानना वह हमले के सरगनाओं में से एक है.

मथानिया ने कहा कि उसने सप्ताह की शुरुआत में पुलिस स्टेशन में शरीर के हिस्सों की तस्वीरें देखकर अपने भाई की पहचान की. उसने कहा, 'हमलों (रविवार को) के बाद से पांच लोग लापता हो गए. इनमें मेरे तीन भाई, मेरे पिता और मेरी बहन के पति शामिल हैं.' श्रीलंका के पूर्वी तटीय शहर संथमारुथु में पुलिस और कथित आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में छह संदिग्ध आतंकवादियों के साथ 10 नागरिक मारे गए जिनमें छह बच्चे भी शामिल थे.

शनिवार को जिस घर पर छापेमारी की गई, वहां भयावह दृश्य देखने को मिला. तीन विस्फोटों में छत उड़ गई थी और जले हुए शव मिले. उस छापे में मारे गए आतंकवादियों में से एक की पहचान स्थानीय चरमपंथी समूह नेशनल तौहीद जमात के प्रमुख सदस्य और मथानिया के जीजा मोहम्मद नियास के रूप में की गई है.

मथानिया ने बताया, 'मैं इससे तब तक प्रभावित नहीं हुई जब तक मैंने पुरुषों और महिलाओं के शवों को नहीं देखा. जब उन लोगों ने छह बच्चे कहा.. तो मुझे लगा कि क्या वे मुझसे संबंधित लोग हो सकते हैं.' उसने कहा, 'महिलाओं में, घर में पांच महिलाएं थीं. मेरे तीन भाइयों की पत्नियां, मेरी छोटी बहन और मेरी मां. कुल मिलाकर सात बच्चे थे.' मथानिया ने कहा कि उसके भाई जहरान हाशिम की पत्नी और बेटी इस समय अस्पताल में हैं.

ये छापे ईस्टर के दिन देश में विभिन्न जगहों पर हुए विस्फोटों के मामले में अपराधियों की धड़-पकड़ का हिस्सा हैं. विस्फोटों में 253 लोग मारे गए हैं और 500 से ज्यादा घायल हुए हैं. राष्ट्रीय पुलिस प्रवक्ता रुवान गुनसेकरा ने रविवार को कहा कि पिछले 24 घंटों में कम से कम 48 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है.

इस बीच, तीन सांसदों ने सीएनएन को बताया कि उनके निजी सुरक्षा अधिकारियों को श्रीलंकाई पुलिस के वीआईपी सुरक्षा प्रभाग से इन्टर्नल मेमो मिला है जिसमें चेतावनी दी गई है कि आने वाले दिनों में और हमले हो सकते हैं. मेमो में कहा गया कि हमलों की योजना उन्हीं साजिशकर्ताओं द्वारा बनाई गई है जिनका हाथ रविवार को ईस्टर के दिन हुए हमलों के पीछे है.

इनपुट: IANS