Kerala में क्यों बेकाबू हुआ Coronavirus, केंद्र की एक्सपर्ट्स टीम ने किया चौंकाने वाला खुलासा

महाराष्ट्र और दिल्ली समेत देशभर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Coronavirus 2nd Wave) की रफ्तार कम हो गई है, लेकिन इस बीच केरल में कोविड-19 (Covid-19 in Kerala) के नए मामलों लगातार बढ़ोतरी हो रही है. इसको लेकर केंद्र सरकार की एक्सपर्ट्स टीम ने कोरोना विस्फोट की असली वजह का खुलासा किया है.

Kerala में क्यों बेकाबू हुआ Coronavirus, केंद्र की एक्सपर्ट्स टीम ने किया चौंकाने वाला खुलासा
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: महाराष्ट्र और दिल्ली समेत कई राज्यों में कोविड-19 के नए मामलों में काफी कम आई है और देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Coronavirus 2nd Wave) की रफ्तार कम हो गई है, लेकिन इस बीच केरल में कोरोना (Covid-19 in Kerala) के लगातार बढ़ रहे नए मामलों ने चिंता बढ़ा दी है. नए केस को देखते हुए केंद्र सरकार ने एक एक्सपर्ट्स की टीम केरल भेजी है, जिसने राज्य में कोरोना विस्फोट की असली वजह का खुलासा किया है.

क्या है केरल में कोरोना विस्फोट की असली वजह?

केंद्र सरकार की एक्पर्ट्स टीम के अनुसार, केरल में कोरोना वायरस (Coronavirus in Kerala) के नए मामलों से लगातार बढ़ोतरी का सबसे बड़ा कारण होम आइसोलेशन (Home Isolation) में रह रहे कोविड-19 के मरीजों (Covid-19 Patient) की निगरानी में लापरवाही है. इस वजह से राज्य में कोरोना के नए केस तेजी से बढ़ रहे हैं और देशभर के दैनिक मामलों के 50 प्रतिशत मामले यहां दर्ज किए जा रहे हैं.

ज्यादा पॉजिटिविटी रेट वाले जिलों का दौरा कर रही टीम

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र सरकार ने 29 जुलाई को छह सदस्यीय टीम को केरल भेजा था, जो स्थिति का जायजा ले रही है. इस टीम की अगुवाई नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के डायरेक्टर डॉक्टर सुजीत सिंह कर रहे हैं और टीम फिलहाल सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट वाले जिलों का दौरा कर रही है. टीम जल्द ही अपनी विस्तृत रिपोर्ट सौंपेगी.

ये भी पढ़ें- परीक्षा से पहले पिता और भाई को खोया, सदमे से उबरकर 22 की उम्र में ऐसे बने IAS अफसर

 

लापरवाही कर रहे होम आइसोलेशन वाले कोरोना मरीज

रिपोर्ट के अनुसार, केंद्रीय टीम ने पाया है कि राज्य में होम आइसोलेशन में रखे गए कोरोना मरीजों की पर्याप्त निगरानी नहीं की जा रही है और वे आसपास घूम रहे हैं. इस वजह से राज्य में संक्रमण तेजी से फैल रहा है. केंद्रीय टीम ने यह भी माना है कि राज्य को अब ठोस कदम उठाने होंगे और इसके तहत जिन लोगों में थोड़े भी गंभीर लक्षण हैं, उन्हें अस्पताल में भर्ती करना चाहिए, क्योंकि केरल में अधिकांश कोविड-19 बेड अब खाली हैं.

छह दिनों बाद 20 हजार से कम हुए नए मामले

केरल में लगातार छह दिनों तक कोविड-19 के 20 हजार से अधिक नए मामले सामने आ रहे थे. हालांकि रविवार को नए मामलों में कमी देखी गई और 24 घंटे में राज्य में नए मामलों की संख्या 13,984 रही. इसके साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 34 लाख 25 हजार 473 हो गई. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने एक विज्ञप्ति जारी कर बताया कि 24 घंटे में कोविड-19 के 118 मरीजों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 16,955 पहुंच गई.

लाइव टीवी

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.