LCA Tejas Mark 1A : Indian Air Force का शक्तिमान, दुश्मनों का करेगा काम-तमाम

एक साथ इंडियन एयरफोर्स को मिल रहे हैं 83 तेजस फाइटर जेट, जो दुश्मनों का काम तमाम करने की ताकत रखते हैं

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Jan 13, 2021, 20:13 PM IST
1/6

तेजस की खासियत

Specification of Tejas

इंडियन एयरफोर्स दुनिया की चौथी सबसे बड़ी एयरफोर्स मानी जाती है. लेकिन पिछले काफी समय से इंडियन एयरफोर्स की ताकत उसकी क्षमता से कम थी. हालांकि मोदी सरकार लगातार राफेल, मिग-29, सु-30 एमकेआई की खरीदी कर रही है, लेकिन अब मोदी सरकार ने एचएएल के बनाए फोर्थ जेनरेशन के सबसे खतरनाक फाइटर जेट की खरीदी की है. जी हां, एक साथ इंडियन एयरफोर्स को मिल रहे हैं 83 तेजस फाइटर जेट, जो दुश्मनों का काम तमाम करने की ताकत रखते हैं. आईए, जानते हैं तेजस के बारे में...

2/6

रडार को चकमा देने में सक्षम

रडार को चकमा देने में सक्षम

एचएएल की ओर से विकसित तेजस को चौथी पीढ़ी (4+) के सबसे उन्नत और सबसे हल्के लड़ाकू विमानों में गिना जाता है. ये अपने मूल वैरिएंट में 43 बदलावों के बाद अप्रूव हुई है. एलसीए-तेजस कम ऊंचाई पर उड़ते हुए सुपरसोनिक स्पीड से दुश्मन पर हमला करने में सक्षम है. ऊंचाई कम होने की वजह से ये कई बार दुश्मन के रडार को भी चमका देने में कामयाब रहता है. 

3/6

तेजस मल्टीरोल फाइटर जेट

तेजस मल्टीरोल फाइटर जेट

तेजस मल्टीरोल फाइटर जेट है, जिसका इस्तेमाल एयर टू एयर, एयर टू ग्राउंड स्ट्राइक में किया जाता है. तेजस पर कई तरह की मिसाइलें तैनात की जा रही हैं, जो एयर टू एयर और एयर टू ग्राउंड अटैक के लिए होंगी. यही नहीं, तेजस का कॉकपिट 360 डिग्री विजिविलिटी और सबसे नए नेविगेशन सिस्टम से लैस है.

Indian Airforce को मिलेंगे 83 LCA Tejas, पीएम मोदी ने लगाई सबसे बड़ी रक्षा खरीद पर मुहर

4/6

तेजस में एंटीशिप मिसाइल, बम और रॉकेट भी

तेजस में एंटीशिप मिसाइल, बम और रॉकेट भी

तेजस में एक साथ 9 तरह के हथियार लोड और फायर किए जा सकते हैं. तेजस में एंटीशिप मिसाइल, बम और रॉकेट भी लगाए जा सकते हैं. तेजस विमान एक सुपर सोनिक फाइटर जेट है जो 15 किलोमीटर की ऊंचाई तक उड़ सकता है.

5/6

भारत तेजस का अगला वैरिएंट मार्क 2 भी बना रहा है

भारत तेजस का अगला वैरिएंट मार्क 2 भी बना रहा है

तेजस‌ में जैमर-प्रोटक्शन तकनीक है ताकि दुश्मन की सीमा के करीब उसका कम्युनिकेशन बंद न हो.  तेजस को 42 फीसदी कार्बन फाइबर, 43 फीसदी एल्यूमीनियम एलॉय और टाइटेनियम से बनाया गया है. जो इसे बाकी फाइटर जेट्स से अलग बनाया है. भारत तेजस का अगला वैरिएंट मार्क 2 भी बना रहा है, जो मीडियम वेट कैटेगिरी का होगा.

6/6

48,000 करोड़ रुपए में 83 तेजस

48,000 करोड़ रुपए में 83 तेजस

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री की अगुवाई में सीसीएस ने 48,000 करोड़ रुपए तेजस की खरीदी के लिए अप्रूव कर दिए हैं. ये डील भारतीय रक्षा विनिर्माण के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होगी. 

Indian Airforce को मिलेंगे 83 LCA Tejas, पीएम मोदी ने लगाई सबसे बड़ी रक्षा खरीद पर मुहर