सीकर: सरकारी कार्यालयों के औचक निरीक्षण में खुली पोल, 230 कर्मियों में से 127 थे अनुपस्थित

230 कार्मिकों में से केवल 107 कार्मिक ही उपस्थित मिले. सभी अनुपस्थित कार्मिकों को उपखंड अधिकारी द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी कर रिपोर्ट जिला कलेक्टर को भेजी गई है.

सीकर: सरकारी कार्यालयों के औचक निरीक्षण में खुली पोल, 230 कर्मियों में से 127 थे अनुपस्थित
निरीक्षण के दौरान समय पर कार्यालय नहीं आने वाले कार्मिकों की पोल खुल गई.

अशोक, सीकर: जिले के खंडेला में प्रशासनिक सुधार विभाग (Administrative Reforms Department) के निर्देशानुसार जिला कलेक्टर के आदेश पर गुरुवार को औचक निरीक्षण किया गया. उपखंड अधिकारी रणजीत सिंह ने तहसीलदार सुमन चौधरी और विकास अधिकारी रोमा सहारण के नेतृत्व में एक टीम का गठन कर राजकीय कार्यालय का औचक निरीक्षण किया.

निरीक्षण के दौरान समय पर कार्यालय नहीं आने वाले कार्मिकों की पोल खुल गई. निरीक्षण में अधिकतर कार्यालयों की हैरान कर देने वाली तस्वीर सामने आई. सुबह 9:40 से 9:50 तक किए गये निरीक्षण में जल ग्रहण एवं विकास कार्यालय, ब्लॉक सांख्यिकी कार्यालय व कृषि विभाग कार्यालयों पर ताले लटके हुए मिले वही नगर पालिका, अजमेर विद्युत वितरण निगम, महिला एवं बाल विकास विभाग और सार्वजनिक निर्माण विभाग में भी अधिकतर कार्मिक अनुपस्थित मिले. 

टीम द्वारा उपखंड मुख्यालय के कुल 18 राजकीय कार्यालयों का निरीक्षण किया. 230 कार्मिकों में से केवल 107 कार्मिक ही उपस्थित मिले. सभी अनुपस्थित कार्मिकों को उपखंड अधिकारी द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी कर रिपोर्ट जिला कलेक्टर को भेजी गई है.

तहसीलदार सुमन चौधरी ने बताया कि उपखंड अधिकारी द्वारा गठित टीम ने आज सभी राजकीय कार्यालयों का निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान 230 में से 107 कार्मिक उपस्थित और 92 कार्मिक अनुपस्थित मिले तथा 14 कार्मिक अवकाश पर तथा 17 कार्मिक राजकार्य के लिये दौरे पर होने की बात सामने आई है. सभी अनुपस्थित कार्मिकों को उपखंड अधिकारी महोदय द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी कर रिपोर्ट जिला मुख्यालय भेजी गई है.