जैसलमेर: ACB की कार्रवाई, जूनियर अकाउंटेंट 20 हजार रिश्वत लेते गिरफ्तार

जैसलमेर एसीबी की टीम ने आज नाचना उपखण्ड स्थित जोधपुर विद्युत वितरण निगम के एईएन कार्यालय में कार्यवाई करते हुए डिस्कॉम के घूसखोर कनिष्ठ लेखाकार उमाषंकर मीणा को 20 हजार रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया और साथ में लाईन मैन मनोज कुमार को भी गिरफ्तार किया.

जैसलमेर: ACB की कार्रवाई, जूनियर अकाउंटेंट 20 हजार रिश्वत लेते गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर

मनीष रामदेव, जैसलमेर: जैसलमेर एसीबी की टीम ने आज नाचना उपखण्ड स्थित जोधपुर विद्युत वितरण निगम के एईएन कार्यालय में कार्यवाई करते हुए डिस्कॉम के घूसखोर कनिष्ठ लेखाकार उमाषंकर मीणा को 20 हजार रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया और साथ में लाईन मैन मनोज कुमार को भी गिरफ्तार किया.

ये भी पढ़ें: 'सिस्टम' में अटका राजस्थान पुलिस का डवलपमेंट, 79.35 करोड़ का बजट खर्च ही नहीं हो पाया

जानकारी के अनुसार परिवादी नरपतसिंह ने जैसलमेर एसीबी कार्यालय में परिवाद दर्ज करवाया था कि उसके पिताजी के नाम आसकन्द्रा गांव में कृषि विद्युत कनेक्षन है जिसका बिल ज्यादा आने पर बिल में शुद्धिकरण के लिए एईएन कार्यालय नाचना में कनिष्ठ अभियंता सुनील कुमार और आरओ उमाषंकर मीणा से मिला तो उन्होंने परिवादी से 20 हजार रूपये रिश्वत की मांग करते हुए विद्युत बिल राषि कम करने की बात कही गयी. जिस पर एसीबी टीम द्वारा 5 जुन को इसका सत्यापन करवाया गया.

 एसीबी उपअधीक्षक अनिल पुरोहित के नेतृत्व में टीम ने कार्यवाई करते हुए परिवादी से 20 हजार रूपये रिश्वत राशि लेते हुए उमाषंकर मीणा आरओ को एईएन कार्यालय कार्यालय में रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया. रिश्वत राशि आरओ उमाषंकर मीणा की पेन्ट की जेब से बरामद की गई. वहीं, इन्हीं आरोपों के तहत लाईन मैन मनोज कुमार को भी गिरफ्तार किया गया और अग्रिम कार्यवाई जारी है. एसीबी उपअधीक्षक अनिल पुरोहित ने बताया कि परिवादी का बिल 80 हजार रूपये का था जिसका समायोजन कर 35 हजार किया गया और रिश्वत के रूप में 20 हजार की मांग की गई थी. घुसखोर उमाषंकर मीणा चैनपुरा, अलवर जिले का मुल निवासी है और हाल में कनिष्ठ लेखाकार के पद पर जोधुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के एईन कार्यालय नाचना मे पदस्थापित है.

ये भी पढ़े: गहलोत सरकार का बड़ा कदम, हरियाणा, पंजाब और दिल्ली के लिए करेंगे कोरोना जांचे