close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भरतपुर: हाईब्रिड मॉडल पर अशोक चांदना का बयान, कांग्रेस नेताओं को इससे परेशानी नहीं है

चांदना सोमवार को भरतपुर में जिला स्तरीय अधिकारियों की मीटिंग के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे. अशोक चांदना ने पूर्व की भाजपा सरकार का हवाला देते हुए कहा कि हमारे यहां कम से कम पूर्व की भाजपा सरकार जैसी स्थिति तो नहीं है.

भरतपुर: हाईब्रिड मॉडल पर अशोक चांदना का बयान, कांग्रेस नेताओं को इससे परेशानी नहीं है

देंवेद्र सिंह, भरतपुर: कांग्रेस पार्टी में निकाय चुनाव को लेकर स्वायत्त शासन विभाग द्वारा लाए गए नए हाइब्रिड फार्मूले को लेकर पार्टी के कार्यकर्ता और मंत्री भी अलग -अलग बात कर रहे हैं. युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्य्क्ष और युवा खेल मंत्री अशोक चांदना ने भी इस हाइब्रिड मॉडल पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि भले ही उनकी पार्टी के प्रदेश अध्य्क्ष सचिन पायलट इस मॉडल पर सवाल खड़े कर रहे हों लेकिन उनको इस हाइब्रिड मॉडल से कोई आपत्ति नहीं है.

उन्होंने कहा है कि इस हाइब्रिड मॉडल को बनाने में उनका कोई योगदान नहीं हैं. जहां तक सवाल पार्टी प्रदेश अध्य्क्ष के सरकार के फैसले पर सवाल उठाने का है तो कांग्रेस में लोकतंत्र है. यहां मुख्यमंत्री के सामने कोई भी अपनी मांग उठा सकता है. अपनी बात रख सकता है चाहे वह साधारण कार्यकर्ता हो या मंत्री या प्रदेश अध्य्क्ष.

चांदना सोमवार को भरतपुर में जिला स्तरीय अधिकारियों की मीटिंग के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे. अशोक चांदना ने पूर्व की भाजपा सरकार का हवाला देते हुए कहा कि हमारे यहां कम से कम पूर्व की भाजपा सरकार जैसी स्थिति तो नहीं है. जहां पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के सामने उनकी पार्टी के प्रदेश अध्य्क्ष कुर्सी के पास खड़े रहते थे. उनको बोलने का हक नहीं था कि मंत्री तक अपनी आवाज सीएम तक नहीं पहुंचा सकते थे लेकिन कांग्रेस में ऐसा नहीं है.

चांदना ने कहा कि सचिन पायलट वर्तमान में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष है और हमारे नेता है उनको अपनी बात कहने का और रखने का हक है. बड़ी बात यह है कि हमारे पास अशोक गहलोत जैसे मुख्यमंत्री है जो कि सबकी सुनते हैं चाहे वह पार्टी के कार्यकर्ता हो, यंगस्टर हो या मंत्री. इससे ही कांग्रेस में लोकतंत्र कायम है.