close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सवाईमाधोपुर: निजी होटल के लीज को लेकर विवाद जारी, विधायक खिलाड़ी लाल बैरवा पर मामला दर्ज

पीड़ित की शिकायत पर कोतवाली थाना पुलिस ने विधायक व अन्य के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है.

सवाईमाधोपुर: निजी होटल के लीज को लेकर विवाद जारी, विधायक खिलाड़ी लाल बैरवा पर मामला दर्ज
इस मामले में पुलिस कैमरे के सामने बोलने को तैयार नहीं है. (फाइल फोटो)

सवाईमाधोपुर: बसेड़ी विधायक खिलाड़ी लाल बैरवा द्वारा लीजधारक को जबरदस्ती होटल से बेदखल करने का मामला सामने आया है. इस संबंध में की गई शिकायत के बाद स्थानीय कोतवाली थाना पुलिस ने विधायक खिलाड़ी लाल बैरवा के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है. 

खबर के अनुसार, पीड़ित लीजधारक विजेन्द्र अग्रवाल ने कोतवाली थाने में दर्ज एफआईआर में बताया है कि मैसर्स ग्लिट्स हॉस्पिलिटी ने रणथम्भौर सफारी लॉज मैसर्स सन्नी विलास के पार्टनर बसेड़ी विधायक खिलाड़ी लाल बैरवा एवं उनके पुत्र सन्नी बैरवा से 1 अगस्त 2015 में लीज पर ली थी. इसके बाद लीज शुदा होटल में होटल ग्लिट्स के नाम से व्यवसाय शुरु किया. जिसके बाद होटल के रखरखाव व मरम्मत के लिए काफी पैसे लीजधारक ने खर्च की. 

शिकायतकर्ता ने कहा है कि 12 जून 2019 को शाम करीब चार बजे विधायक बैरवा व उनके पुत्र सन्नी पांच-छह लोगों के साथ आए तथा होटल स्टॉफ से कमरों की चाबियां मांगी. स्टॉफ द्वारा चाबियां नहीं देने पर जबरदस्ती छीन ली तथा गाली गलौच करने लगे. स्टाफ को होटल से बाहर निकलने के लिए धमकाया व झूठे मुकदमों में फंसाने की धमकी दी. 

शिकायतकर्ता ने बताया कि होटल स्टॉफ को बाहर निकाल विधायक जबरदस्ती होटल में प्रवेश कर अंदर से ताला लगाकर साथियों के साथ कमरों में रहने लगे. इस दौरान विधायक ने होटल ग्लिट्स का बोर्ड भी तोड़ दिया. 

शिकायतकर्ता के अनुसार, होटल स्टाफ से जानकारी मिलने पर लीजधारक अग्रवाल होटल पहुंचा तथा अंदर घुसने की कोशिश की तो विधायक व उनके साथियों ने धमकी दी कि इस होटल से तुम्हारा कोई लेना देना नहीं है. होटल में घुसने की कोशिश की तो पिटाई कर पुलिस में बंद करवा देंगे. जिसके बाद होटल मालिक विधायक ने धोखाधड़ी कर लीज समाप्त हुए बिना लीजशुदा होटल पर जबरदस्ती अपना कब्जा जमा लिया.

पीड़ित की शिकायत पर कोतवाली थाना पुलिस ने विधायक व अन्य के खिलाफ धारा 143, 341, 427, 448, 352, 420, 504  में मुकदमा दर्ज किया है. इस मामले में पुलिस कैमरे के सामने कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है.