बीकानेर: 5 साल बाद फिर शुरू होगा केंद्रीय रसोईघर, अब छात्रों को मिलेगा पोषक आहार

भजनलाल ने कहा, विद्यार्थियों के पौष्टिक खाने के लिए रसोईघर के कर्मचारि ISO के नियमों का पालन करेंगे. 

बीकानेर: 5 साल बाद फिर शुरू होगा केंद्रीय रसोईघर, अब छात्रों को मिलेगा पोषक आहार
रसोईघर के 20 किलो मीटर के दायरे में आने वाले 117 स्कूलों के छात्रों को मिड डे मील दिया जाएगा.

बीकानेर: राजस्थान के बीकानेर में एक बार फिर केंद्रीय रसोईघर की शुरूआत की जा रही है. 10 साल पहले बनाई गई इस रसोई को 5 साल बाद एक बार फिर शुरू किया जा रहा है. 2018 में अक्षय पात्र फाउंडेशन और सरकार के बीच हुए एमओयू के बाद एक बार फिर इस केंद्रीय रसोईघर को शुरू किया जा रहा है. 4 फरवरी को शिक्षा मंत्री गोविंदसिंह डोटासरा, उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी और ऊर्जा मंत्री डॉ बी डी कल्ला इसका उद्घाटन करेंगे. जिसके बाद रसोईघर के 20 किलो मीटर के दायरे में आने वाले 117 स्कूलों के छात्रों को मिड डे मील दिया जाएगा. 

केंद्रीय रसोईघर को लेकर प्राथमिक जिला शिक्षा अधिकारी जोरावर सिंह ने कहा कि प्रथम फेज में इस रसोईघर के उद्धघाटन के बाद 6 फरवरी से बीकानेर शहर की बीस किमी परिधि में आने वाली 117 स्कूलों के तकरीबन 20 हजार विद्यार्थियों को पोषण से भरपूर आहार वितरित किया जाएगा. साथ ही इसके मोनीटरीग के लिए एक कमेटी का गठन किया जाएगा जो पोषाहार वित्तरण और पोष्टिकता की जांच करेगी. अक्षय पात्र फाउंडेशन के भजनलाल ने कहा कि विद्यार्थियों के पोष्टिक खाने के लिए रसोईघर के कर्मचारि ISO के नियमों का पालन करेंगे. वहीं हमारी प्राथमिकता रहेगी कि अभी विद्यार्थियों को गरमा गरम खाना मिले साथ ही पूरी तरह पौष्टिक भी हो.

शहरी क्षेत्र के बीस किमी के दायरे में संचालित स्कूलों में 1 दिसंबर 2013 से पूर्व नंदी फाउंडेशन की ओर से पोषाहार सप्लाई करवाया जाता था. नंदी फाउंडेशन की ओर से सप्लाई बंद होने के बाद केंद्रीय रसोई घर पर ताला पड़ गया था. वहीं पोषाहार की जिम्मेदारी स्कूल प्रबंधन कमेटी को सौंप दी गई थी लेकिन 2018 में सरकार के साथ अक्षय पात्र फाउंडेशन के एमओयू के बाद बीकानेर के 117 स्कूलों में पोषाहार का वितरण किया जाएगा.