बूंदी में 'नाता प्रथा' को लेकर खूनी संघर्ष, 20 लोग घायल

दोनों गुटों के सदस्य घायल हालत में अलग-अलग अस्पताल पहुंचे. 

बूंदी में 'नाता प्रथा' को लेकर खूनी संघर्ष, 20 लोग घायल
प्रतीकात्मक तस्वीर.

बूंदी: केशोरायपाटन थाना क्षेत्र के लेसरदा ग्राम पंचायत के बंजारा की झोपड़िया गांव में बीती रात को दो गुटों में नाता प्रथा को लेकर हुए खूनी संघर्ष में करीब 20 लोग घायल हो गए. दोनों गुटों के सदस्य घायल हालत में अलग-अलग अस्पताल पहुंचे. 

अस्पताल के बाहर भी दोनों पक्षों में मारपीट हो गई, जिससे कुछ देर के लिए अस्पताल परिसर में अफरा-तफरी रही. पुलिस ने बताया कि दरबार, जगदीश, सरदार गुट की सीताराम और पृथ्वीराज गुट के बीच लड़की की शादी के बाद नाता प्रथा को लेकर गांव में बैठक चल रही थी. 

इसी में पैसे और जेवरात को लेकर कहासुनी हो गई, जिसने बाद में खूनी संघर्ष का रूप ले लिया. दोनों गुटों में जमकर लाठियां और धारदार हथियार चले, जिससे दोनों पक्षों के 20 लोग घायल हो गए. सीताराम, बलवीर के गंभीर चोटें आने पर बूंदी भेज दिया. गांव में चीख-पुकार मच गई. दोनों पक्षों की और से जानलेवा हमले का मामला दर्ज किया गया है.