CEC सुनील अरोड़ा पहुंचे राजस्थान, लोकसभा चुनाव की तैयारी का लिया जायजा

इस दौरान उन्होंने आगे की चुनावी तैयारियों के लिए विभागीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए.

CEC सुनील अरोड़ा पहुंचे राजस्थान, लोकसभा चुनाव की तैयारी का लिया जायजा
इस दौरान उन्होंने चुनावी तैयारियों की फीडबैक भी ली.

भरत राज, जयपुर: मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने राजस्थान निर्वाचन विभाग के अधिकारियों के साथ शुक्रवार को अहम बैठक कर 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए अब तक किए गए कार्यों की समीक्षा की. इस दौरान उन्होंने आगे की चुनावी तैयारियों के लिए विभागीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए.

बैठक के दौरान राज्य के उप चुनाव आयुक्त संदीप सक्सेना और सचिव राहुल शर्मा भी मौजूद रहे. अरोड़ा ने शुक्रवार को दो दिवसीय जयपुर दौरे के पहले दिन निर्वाचन विभाग के मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. रेखा गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. जोगाराम सहित विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चुनाव से जुड़ी तैयारियों के संदर्भ में विस्तार से चर्चा की.

अधिकारियों से ली विस्तृत जानकारी और फी़डबैक

इस दौरान संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम, ईवीएम-वीवीपैट मशीनों की एफएलसी, मतदान केंद्रों पर उपलब्ध कराई जाने वाली मूलभूत सुविधाओं, सी-विजिल एप, सर्विस वोटर्स, वोटर हैल्प लाइन नंबर 1950, मशीनों के अलॉटमेंट, मतदान केंद्रों का रेशनलाइजेशन, मतदान सामग्री के प्रबंधन, बजट, चुनाव के दौरान मिलने वाली शिकायतें और उनके निस्तारण, आईटी एप्लीकेशंस, मतदाता जागरूकता के लिए शुरू की जाने वाले स्वीप कार्यक्रम की कार्य योजना, चुनाव व्यय पर्यवेक्षण सहित कई विषयों पर अधिकारियों द्वारा विस्तृत जानकारी और फीडबैक दिया गया.

मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए जागरूकता अभियान चलाने पर दिया जोर

अरोड़ा ने युवा और महिला मतदाताओं का प्रतिशत बढ़ाने और लोकसभा चुनाव-2014 में सबसे कम वोटर टर्न आउट वाले जिलों में मतदाता जागरूकता अभियान चलाने, कॉलजों में कैंप लगाने और वोटर हैल्प लाइन नंबर 1950 की ज्यादा से ज्यादा पब्लिसिटी करने पर भी जोर दिया.उन्होंने मतदान केंद्रों पर दिव्यांगजनों को और भी बेहतर बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए.

निर्वाचन विभाग लगातार कर रहा है मॉनिटरिंग

इस संबंध में मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने बताया कि विधानसभा चुनावी प्रक्रिया समाप्ति के साथ ही विभाग ने लोकसभा चुनाव-2019 की तैयारी शुरू कर दी थी. प्रदेश में ईवीएम-वीवीपैट मशीनों की एफएलसी (प्रथम स्तरीय जांच) और मतदान कार्मिकों के प्रशिक्षण सहित कई अन्य तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. संभागीय आयुक्त, जिला जिला निर्वाचन अधिकारी और चुनाव से जुड़े अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए चुनावी तैयारियों की लगातार मॉनीटरिंग की जा रही है.

उन्होंने कहा, ''मतदान तारीख की घोषणा होने के साथ ही अन्य गतिविधियों को भी सुचारू रूप से संपादित किया जाएगा. राजस्थान में शांतिपूर्ण चुनाव की समृद्ध परंपरा रही है. आगामी लोकसभा चुनाव में भी इस परंपरा का बखूबी निर्वहन किया जाएगा.''

शनिवार को होगी राज्य के आलाधिकारियों के साथ बैठक

गौरतलब है कि अरोड़ा के दौरे के दूसरे दिन शनिवार को प्रदेश के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) राजीव स्वरूप और पुलिस महानिदेशक कपिल गर्ग से स्थानान्तरण नीति, इलेक्टरल ऑफेंस, क्रिटिकल मतदान केन्द्रों पर पर्याप्त संख्या में जाप्ता लगाने, अवैध हथियार, मदिरा एवं वाहनों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही करने और कानून व्यवस्था जैसे अन्य विषयों और चुनावी तैयारियों के बारे में चर्चा करेंगे.