उदयपुर: जलदाय विभाग के कार्यालय में क्लोरीन गैस का रिसाव, मचा हड़कंप

जलदाय विभाग के कर्मचारियों की मानें तो जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही के कारण यह हादसा हुआ. 

उदयपुर: जलदाय विभाग के कार्यालय में क्लोरीन गैस का रिसाव, मचा हड़कंप
जलदाय विभाग के कर्मचारियों की मानें तो जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही के कारण यह हादसा हुआ.

अविनाश जगनावत, उदयपुर: जिले के पटेल सर्कल स्थित जलदाय विभाग के कार्यालय के फिल्टर प्लांट में अचानक क्लोरीन गैस का रिसाव होने से हड़कंप मच गया. हरकत में आज कर्मचारी तुरन्त कार्यालय से बाहर निकले. 
कार्यालय के अधीसाशी अभियंता संजय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि गैस सिलेंडर का वॉल्व खोलते समय वह खराब हो गया और सिलेंडर से गैस का रिसाव शुरू हो गया. वॉल्व को बंद करने का प्रयास किया लेकिन सफलता नहीं मिली. 

सूचना पर नगर निगम के दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची और सिलेंडर पर पानी का छिड़काव किया गया. इस दौरान जब गैस का रिसाव नहीं रूका तो हिन्दुस्तान जिंक टेक्निकल टीम को बुलाया गया. इसके बाद वॉल्व को ठीक कर गैस का रिसाव को रोका गया.

लोगों को किया गया आगाह
फिल्टर प्लांट से गैस के रिसाव का रिसाव शुरू होने के बाद सूरजपोल थाना पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने लोगों को अपने घरों में ही रहने के लिए आगाह किया. साथ ही वहां खड़े लोगों को हटाया गया. करीब दो घंटे तक हुए रिसाव से क्षेत्र में क्लोरीन गैस फैल गई, जिससे लोगों को सांस लेने की भी परेशानी हुई.

बड़ा हादसा होने से टला
विभाग के अधिकारियों की मानें तो जिस सिलेंडर से गैस का रिसाव हुआ, उसमें गैस की मात्रा कम थी. इसके कारण सिलेंडर से निकलने वाली गैस की मात्रा कम थी. अगर सिलेंडर पूरा भरा होता तो बड़ा हादसा होने की संभावना बढ़ जाती.

क्या अधिकारियों की लापरवाही से हुआ हादसा
जलदाय विभाग के कर्मचारियों की मानें तो जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही के कारण यह हादसा हुआ. उन्होंने बताया कि विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों ने करीब चार माह पूर्व स्थाई कर्मचारियों को फिल्टर प्लांट से हटा कर घास काटने के लिए कार्यालय के गार्डन में लगा दिया. वही फिल्टर प्लांट जैसी महत्वपर्ण जगह पर संविदा और ठेके पर लगे कर्मचारियों को लगा रखा है. जिन्हें प्लांट में काम करने का अनुभव नहीं है, जिससे इस तरह के हादसे हो रहे हैं.