COVID-19: कर्फ्यू को लेकर CM गहलोत ने दिया निर्देश, बोले- जरूरत पड़े तो आर्मी भी...

मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में यह भी लिखा है कोरोना के संक्रमण के चलते राज्यों की सीमाएं सील हैं. 

COVID-19: कर्फ्यू को लेकर CM गहलोत ने दिया निर्देश, बोले- जरूरत पड़े तो आर्मी भी...
पूरे राजस्थान में कर्फ्यू जैसे हालात हैं.

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज शाम को 5:00 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करेंगे. इसमें वह प्रदेशभर में हालातों और उपायों को लेकर समीक्षा करेंगे.  इस कॉन्फ्रेंसिंग में जिला कलेक्टर्स, सीएमएचओ, पीएमओ, मेडिकल कॉलजेस के प्राचार्यों, माइक्रोबायोलॉजी लैब के हेड, अस्पतालों के अधीक्षक और अन्य स्वास्थ्य से जुड़े अधिकारी शामिल रहेंगे.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना वायरस को लेकर शनिवार को अधिकारियों से फीडबैक लिया. सीएम ने प्रदेश में जरूरी सामान की सप्लाई को लेकर खास दिशा-निर्देश दिए. इसके साथ ही पलायन कर रहे मजदूरों को लेकर भी सरकार द्वारा उठाए जा रहे जरूरी कदम भी साझा किए.

इसके लिए विशेषज्ञों और चिकित्सकों, सभी से सीएम ने लिए सुझाव लिए. इस दौरान भीलवाड़ा, झुंझुनू सहित संक्रमित मरीजों के जिलों को लेकर विशेष योजना बनाई गई. मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों से हर हाल में हो लॉकडाउन की पालना करवाने की बात कही. उन्होंने कहा कि पुलिस अधिकारी खुद फील्ड में उतरकर पालना करवाएं. कर्फ्यू के क्षेत्रों में जरूरी सामान की सप्लाई बाधित नहीं होनी चाहिए. आवश्यकता हो तो संवेदनशील जिलों में आर्मी की ड्रिल करवाई जाए.

बता दें कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रदेश के नागरिकों के स्वास्थ्य और उनकी जरूरतों की फिक्र के साथ-साथ अन्य राज्यों में रह रहे प्रवासी राजस्थानियों को लेकर भी बेहद चिंतित हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर प्रवासी राजस्थानियों कि सुविधाओं का ख्याल रखने का आग्रह किया है. 

मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में लिखा है देश के सभी राज्यों में राजस्थान के लोग निवास करते हैं. कोरोना संक्रमण के दौर में अपने राज्य से दूर यह राजस्थानी पलायन नहीं करें, इसे रोकने के लिए उनके स्वास्थ्य भोजन और आवास की सुविधाओं का पूरा ख्याल रखा जाए. 

मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में यह भी लिखा है कोरोना के संक्रमण के चलते राज्यों की सीमाएं सील हैं. लिहाजा प्रवासी राजस्थानी जहां है वहीं रहे. अपने राज्य में आने का प्रयास नहीं करें. वहां की सरकारें आपकी पूरी देखभाल करेगी. 

सीएम ने राजस्थान में अन्य राज्यों के रह रहे निवासियों को भी अपने राज्यों में नहीं जाने की हिदायत दी है. मुख्यमंत्री ने उन्हें भरोसा जताया है कि सरकार उनकी भोजन उनकी आवाज और उनकी चिकित्सा की सुविधाओं को लेकर गंभीर है और इस दिशा में पूरा प्रयास किया जा रहा है.