close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: हेड कांस्टेबल अब्दुल गनी का शव पहुंचा भीलवाड़ा, घर में मचा कोहराम

राजसमंद जिले में जमीन विवाद मामले की जांच के दौरान राजस्थान पुलिस के हेड कांस्टेबल अब्दुल गनी की शनिवार को हत्या कर दी गई थी.

राजस्थान: हेड कांस्टेबल अब्दुल गनी का शव पहुंचा भीलवाड़ा, घर में मचा कोहराम
अब्दुल गनी भीलवाड़ा जिले के जहाजपुर निवासी थे. (फोटो साभार: twitter.com/rajasthan police)

भीलवाड़ा: राजसमंद जिले में जमीन विवाद मामले की जांच के बाद वापस लौट रहे राजस्थान पुलिस के हेड कांस्टेबल अब्दुल गनी की शनिवार को हत्या हो गई थी. उनका शव रविवार को भीलवाड़ा पहुंचा. इस दौरान शव को देखते ही घर में कोहराम मच गया. हेड कांस्टेबल गनी का शव भीलवाड़ा पुलिस लाईन स्थित उनके भाई के घर पर लाया गया.

इस मामले में पुलिस ने हत्या में शामिल आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी का दावा किया है. दूसरी तरफ मृतक के पैतृक गांव जहाजपुर अंजुमन कमेटी अध्यक्ष नजीर मोहम्मद ने परिजनों को 50 लाख रुपए मुआवजे, आवास, नाबालिग बच्चों को पढ़ाई और आश्रित को सरकारी नौकरी देने की मांग की. मांग पूरी नहीं होने तक शव दफन नहीं करने की चेतावनी के कारण माहौल में गहमागहमी हो गई.

जानकारी मिलने के बाद जिला कलेक्टर राजेन्द्र भट्ट और एसपी हरेंद्र कुमार महावर हेड कांस्टेबल गनी के आवास पर पहुंचे. इस दौरान अधिकारियों ने मृतक के परिजनों से समझाईश का प्रयास किया. करीब आधे घंटे की समझाइश के बाद सभी मांगों को मान लिया गया. डीएम राजेन्द्र भट्ट और एसपी हरेंद्र महावर ने एक-एक बच्चे को गोद लेकर बालिग होने तक पढ़ाई की वयवस्था करने, भीलवाड़ा और राजसमंद पुलिस विभाग व भीलवाड़ा कलेक्ट्री प्रशासन द्वारा स्वेच्छा से एक दिन की सैलेरी मृतक आश्रितों को देने और राज्य सरकार से यूआईटी द्वारा मृतक आश्रितों को आवास दिलाये जाना का आश्वासन देकर गतिरोध को खत्म किया. 

गतिरोध समाप्त होने के बाद मृतक के जनाजे को राजकीय सम्मान में साथ सुपर्दे खाक कर दिया गया. राजस्थान पुलिस के वरीय अधिकारियों ने भी उनके शव को कंधा दिया. इस मामले में राजसमंद पुलिस ने 4 लोगों को नामजद किया है. जिनकी गिरफ्तारी के लिए कई जगह दबिश भी दी गई है. 

आपको बता दें कि 1995 से राजस्थान पुलिस से जुड़े हेड कांस्टेबल अब्दुल गनी भीलवाड़ा जिले के जहाजपुर निवासी थे. फरवरी 1995 से राजस्थान पुलिस की सेवा से जुड़े थे. उसके बाद पुलिस कांस्टेबल के पद पर राजसमंद जिले के कुंवारिया, आमेट, देवगढ़, राजसमंद व भीम पुलिस थाना क्षेत्र में सेवाएं दी. भीम पुलिस थाना में तैनात हेड कांस्टेबल अब्दुल गनी की शनिवार शाम को अज्ञात लोगों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. पिटाई के बाद कांस्टेबल गनी मोहम्मद को घायल अवस्था में भीम अस्‍पताल ले जाया गया. जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी.