close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एक्सरसाइज वायु शक्ति-2019: थार के रेगिस्तान से भारतीय वायु सेना दुनिया को दिखाएगी अपनी ताकत

भारतीय वायु सेना द्वारा 16 फरवरी को प्रस्तावित ‘‘एक्सरसाईज वायु शक्ति-2019’’  के संबंध में तैयारी एवं व्यवस्थाओं के लिए प्रथम बैठक कुछ वक्त पहले आयोजित की गई थी.

एक्सरसाइज वायु शक्ति-2019: थार के रेगिस्तान से भारतीय वायु सेना दुनिया को दिखाएगी अपनी ताकत
फाइल फोटो

पोकरण/ मनीष रामदेव: आगामी 16 फरवरी को भारतीय वायु सेना द्वारा थार के रेगिस्तान में दुनिया को अपनी ताकत का अहसास करवाया जाएगा. जैसलमेर की पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज में वायुसेना के अब तक के सबसे बड़े युद्धाभ्यास एक्सरसाईज वायु शक्ति-2019 को देखने के लिए देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सहित दुनिया भर के 50 से अधिक देशों के प्रतिनिधियों के पोकरण आने की संभावना है. इसके लिए व्यापक तैयारियां भी शुरु कर दी गई हैं. 

दिन, शाम और रात में होने वाले इस फायर पावर के प्रदर्शन में भारत के अग्रिम पंक्ति के लड़ाकू विमान, लड़ाकू हेलिकोप्टर, माल वाहक जहाज, कई मिसाईलो के साथ-साथ भारत में निर्मित लड़ाकू विमान तेजस भी अपना जौहर दिखाने जा रहा है. इसका फुल ड्रेस रिहर्सल 13 फरवरी को आयोजित किया गया है. 

चीन और पाकिस्तान को आंख दिखाते हुए दुनिया के 40 मित्र देशों के डेलीगेट्स के सामने विश्व की सर्वश्रेष्ठ वायुसेनाओं में से एक भारतीय वायुसेना, राजस्थान के जैसलमेर की पोकरण फील्ड फायरिंग रेन्ज में एक प्रदर्शन कार्यक्रम में फायर पावर में अपनी मारक क्षमता का जोरदार प्रदर्शन करेगी. भारतीय वायुसेना के बमवर्षक लड़ाकू विमान अचूक निशानो और अपने दमखम से हुए पूरी रेन्ज को भयंकर बम धमाकों से गूंजायमान कर देंगे. 

16 फरवरी को होने वाले आयरन फीस्ट नामक वायुशक्ति कार्यक्रम में उड़ान क्षमताओं और घातक मारक क्षमता के प्रदर्शन की श्रृंखला में वायुसेना के जांबाजों ने भिन्न भिन्न लक्ष्यों तथा दुश्मन के नकली रेडार, सेना टुकड़ी, हथियारों का जखीरा, कंबाई, नकली पेट्रोल पंप के रॉकेट्स, लेजर नियंत्रित बम, मिसाईल और फ्रंटगन से अचूक निशानों से ध्वस्त कर रेन्ज में रोमांच पैदा करेंगे.
 
इस फायर पॉवर डेमोन्स्ट्रेशन में मिग 21, बिसान, मिग 27, मिग 29, मिराज 2000, सुखोई एम.के.आई और जगुआर व अवैक्स लड़ाकू हेलिकोप्टरो में एल.सी.एच, मी-17 सहित अन्य कई हेलिकोप्टर दुश्मनो के काल्पनिक ठिकानो को लेजर गाईडेड बम और मिसाईल से ध्वस्त करेंगे. इस आयरनफीस्ट एक्सरसाईज में अर्ली वॉर्निंग सिस्टम सहित मेक-इन-इंडिया पर खासतौर से जोर रहेगा. इसमें भारत में निर्मित हल्का लड़ाकू विमान तेजस अपने युद्ध कौशल का प्रदर्शन करेगा. साथ ही स्वदेशी तकनीक से बनी कई मिसाईलें भी अपने लक्ष्य को भेदेंगी.  

भारतीय वायु सेना द्वारा 16 फरवरी को प्रस्तावित ‘‘एक्सरसाइज वायु शक्ति-2019’’  के संबंध में तैयारी एवं व्यवस्थाओं के लिए प्रथम बैठक कुछ वक्त पहले आयोजित की गई थी. जिला कलेक्टर ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देष दिए कि इस महत्वपूर्ण आयोजन के संबंध में जो भी कार्य और दायित्व सौंपे गए हैं उनको निर्धारित समय सीमा में पूरा किया जाए. उन्होंने इस कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता से लेने के निर्देष दिए हैं.