close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गैंगस्टर राजू ठेठ को मौत का डर, बुलेट प्रूफ जैकेट पहना कर हुई कोर्ट में पेशी

जहां कड़ी सुरक्षा के बीच लाए गए राजू ठेठ के चेहरे पर न सिर्फ एक अनजाना डर नजर आया, बल्कि अपने बचाव के लिए उसने बुलेट प्रूफ जैकेट भी पहन रखी थी. 

गैंगस्टर राजू ठेठ को मौत का डर, बुलेट प्रूफ जैकेट पहना कर हुई कोर्ट में पेशी
पेशी के दौरान पुलिस जाब्ता व क्यूआरटी के जवान तैनात रहे. (प्रतीकात्मक फोटो)

नागौर: क्या प्रदेश के कुख्यात गैंगस्टर राजू ठेठ को अपनी मौत का डर है? क्या आनंदपाल सिंह के मरने के बाद भी राजू ठेठ को आनंदपाल की गैंग से खुद की जान को खतरा नजर आता है? यह बात आज उस समय सच साबित हुई जब हार्डकोर क्रिमिनल राजू ठेठ को नागौर जिले के परबतसर में एक मामले में कोर्ट में पेश किया गया. 

जहां कड़ी सुरक्षा के बीच लाए गए राजू ठेठ के चेहरे पर न सिर्फ एक अनजाना डर नजर आया, बल्कि अपने बचाव के लिए उसने बुलेट प्रूफ जैकेट भी पहन रखी थी. 

आपको बता दें कि हार्डकोर अपराधी राजू ठेठ को करीब 4 साल पहले नागौर जिले के कुचामन सिटी में व्यापारी नारायण अग्रवाल पर हमला करवाने के मामले में आज परबतसर कोर्ट में पेश किया गया. राजू ठेठ को कड़ी सुरक्षा के बीच जयपुर जेल से परबतसर एडीजे कोर्ट में एडीजे नीरज कुमार के सामने पेश किया गया. इस दौरान परबतसर का कोर्ट परिसर पुलिस छावनी की तरह नजर आया, जहां चप्पे चप्पे पर पुलिस जवान सुरक्षा की दृष्टि से तैनात किए गए थे. 

कुछ दिन पहले गैंगस्टर राजू ठेठ ने खुद की जान पर खतरा बताते हुए सुरक्षा की अपील की थी. उसी के मद्देनजर राजू ठेठ की सुरक्षा को देखते हुए उसे बुलेट प्रूफ जेकेट पहनाकर परबतसर लाया गया. परबतसर में कोर्ट के अंदर और बाहर वो बुलेटप्रूफ जैकेट में ही नजर आया. 

करीब चार साल पहले कुचामन सिटी के ज़मीन कारोबारी नारायण अग्रवाल पर हमले और कार्यालय में तोड़ फोड़ के मामले में हार्डकोर अपराधी राजू ठेठ का हाथ होने की बात सामने आई थी और उसी मुक़दमे में इस कुख्यात बदमाश गैंगस्टर राजू ठेठ की पेशी थी. 

वहीं नागौर जिला पुलिस अधीक्षक गगनदीप सिंगला के निर्देश पर मकराना सीओ सुरेश कुमार, परबतसर थानाधिकारी सुभाष चन्द्र , पीलवा थाना अधिकारी राधेश्याम सहित कोर्ट परिसर में बड़ी संख्या में पुलिस जाब्ता व क्यूआरटी के जवान तैनात रहे.