राजस्थान: Pass बनवाने के लिए किराना-मेडिकल दुकान संचालक परेशान, कहा...

 पास को बनवाने के लिए भी ये लोग जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय या अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (ACP),उपखण्ड मजिस्ट्रेट कार्यालय नहीं पहुंच पा रहे हैं.

राजस्थान: Pass बनवाने के लिए किराना-मेडिकल दुकान संचालक परेशान, कहा...
दुकानदारों को अपनी दुकानों में आवश्यक सामान लाने में भारी मशक्कत उठानी पड़ रही है.

दीपक गोयल, जयपुर: कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते संक्रमण के बीच सरकार ने राज्यों को लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान आवश्यक वस्तुओं जैसे राशन, मेडिकल, दूध की डेयरियां इत्यादि दुकानों के खुले रहने की छूट भले दे रखी हो. लेकिन अब इन दुकानदारों को अपनी दुकानों में आवश्यक सामान लाने में भारी मशक्कत उठानी पड़ रही है.

दरअसल, इन दुकान संचालकों को सरकार सामान लाने और ले जाने के लिए पास (परमिट ) जारी कर रही है. लेकिन इन पास को बनवाने के लिए भी ये लोग जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय या अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (ACP),उपखण्ड मजिस्ट्रेट कार्यालय नहीं पहुंच पा रहे हैं.

जानकारी के मुताबिक, इन दो कार्यालयों से इन व्यापारियों को लॉकडाउन अवधि के लिए पास जारी हो रहे हैं. लेकिन इन पास को बनवाने के लिए जब व्यापारी घरों और संस्थाओं से निकलते है और मुख्य रोड पर जाते हैं तो, पुलिस के सिपाही उन्हे रोक देते है. वजह बताने के बाद भी कई लोगों को वापस लौटाया जा रहा है.

ऐसे में इन व्यापारियों के लिए सबसे बड़ी समस्या पास बनवाने की आ रही है. वहीं, कुछ दुकान संचालकों ने कहा कि लॉकडाउन की स्थिति आने के बाद दुकानों पर सामान्य से ज्यादा खरीददारी होने लगी. इसके चलते दुकानों में अब राशन सामाग्री खत्म होने लगी है. दूसरी तरफ से थोक व्यापारी की ओर से माल भी पर्याप्त मात्रा में सप्लाई नहीं भेजी जा रहा है. खुदरा व्यापारी को स्वयं के स्तर पर थोक व्यापारी के पास जाकर माल लाना पड़ रहा है, इसके लिए बाजार आना-जाना पड़ रहा है, जिसके कारण परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

बता दें कि, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कोरोना वायरस से निपटने के लिए अधिकारियों के साथ लगातार बैठक कर रहे हैं. मुख्यमंत्री के अपील पर राजस्थान सरकार के मंत्री और विधायक अपने-अपने स्तर पर सहायता कोष में आर्थिक मदद देने की घोषणा कर चुके हैं.

गौरतलब है कि, राजस्थान (Rajasthan) में बुधवार को चार नए कोरोना वायरस (Coronavirus) के पॉजिटिव केस सामने आए हैं. इनमें से तीन केस भीलवाड़ा जिले के बताए गए हैं, जो कि मेडिकल स्टाफ से जुड़े हुए हैं. वहीं एक केस जोधपुर का है. इन चार नए मरीजों के सामने आने के बाद राजस्थान में कोरोना वायरस के कुल मरीजों की संख्या 36 हो गई है. इनमें से एक की मौत हो चुकी है, जो कि विदेशी नागरिक था. वो राजस्थान में कोरोना का सबसे पहला पॉजिटिव केस था.