अलवर हुआ हाईटेक, यातायात नियम तोड़े तो सीधा घर आएगा चालान

अलवर की ट्रैफिक पुलिस अब हाईटेक हो गयी है. अब ट्रैफिक नियमों की अवहेलना करने वाले पुलिस की नजर से नहीं बच पाएंगे.   

अलवर हुआ हाईटेक, यातायात नियम तोड़े तो सीधा घर आएगा चालान
ट्रैफिक नियमों की अवहेलना करने वाले पुलिस की नजर से नहीं बच पाएंगे

अलवर: जिले की ट्रैफिक पुलिस अब हाईटेक हो गयी है. अब ट्रैफिक नियमों की अवहेलना करने वाले पुलिस की नजर से नहीं बच पाएंगे. अलवर शहर में अब पुलिस ने हाई डेंसिटी के कैमरे हर चौराहे पर लगा दिए हैं, जिससे नियमों को तोड़ने वाले वाहनों की फोटो लेकर अब चालान सीधा वाहन मालिक के घर भेजा जाने लगा है.

अलवर जिला पुलिस ने शहर में यातायात सुधारने की दिशा में कदम उठाते हुए नियमों की अवहेलना करने वाले वाहन चालकों के लिए शहर हर चौराहे पर सीसीटीवी कैमरे लगा दिए हैं. हाई डेंसिटी वाले इन कैमरों से खींची गई तस्वीर में किसी भी वाहन के नम्बर को आसानी से देखे जा सकता है. अब अगर वहां चालकों द्वारा नियमों की अवहेलना नजर आती है तो उनके घर चालान भेज दिया जाता है.

इन सब पर निगरानी रखने के लिए पुलिस कंट्रोल रूम में अभय कमांड सेंटर की स्थापना की गई है. पिछले दिनों रेंज आईजी एस सेंगथिर भी अभय कमांड सेंटर पहुंचे थे और कार्य की सराहना की थी. यहां 24 घण्टे तीन शिफ्टों में निगरानी रखी जा रही है. इसके अलावा इस सिस्टम से आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने वाले शातिर बदमाशों पर निगरानी रखी जा रही है. तीन माह में करीब 593 ई चालान भेजे गए हैं.

सबसे बड़ी बात यह है इसमें एक तिहाई महिलाओं के चालान हैं. इस सब सिस्टम के टेक्निकल हैड चारु अग्रवाल ने बताया अभी इस दिशा और भी कैमरे लगाए जाने हैं. शहर में करीब 25 किलोमीटर हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी के साथ ऑप्टिकल फाइबर डाली गई है. साथ ही शहर के मुख्य चौराहों पर पीटी जेड कैमरे लगाए गए हैं.

अभय कमांड सेंटर पर तीन शिफ्टों में चल रही निगरानी में महिलाओं के साथ छेड़खानी से लेकर चेन स्नेचिंग करने वालों पर भी अब तीसरी नजर चौकन्नी है. 

अब अगर आपने सीट बेल्ट नहीं लगा रखी या आप वाहन चलाते वक्त मोबाइल से बात कर रहे हैं या आप हेलमेट लगाना भूल गए तो अब पुलिस कर्मी आपसे नहीं उलझेगा. अब सीधा आप पर तीसरी आंख से निगरानी रखी जा रही है. सीओ ट्रैफिक का मानना है कि इससे यातायात में सुधार होगा और अपराधों पर भी अंकुश लगेगा।