जयपुर: गणतंत्र दिवस पर SMS स्टेडियम में होगा कार्यक्रम, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

आयोजन स्थल और आसपास के इलाके को सुरक्षा के लिहाज से 8 सेक्टरों में बांटा गया है. सभी सेक्टर में सुरक्षा की जिम्मेदारी एसीपी स्तर के अधिकारी को सौंपी गई है.

जयपुर: गणतंत्र दिवस पर SMS स्टेडियम में होगा कार्यक्रम, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा
फाइल फोटो

जयपुर/ शरद पुरोहित: गणतंत्र दिवस को लेकर राजधानी जयपुर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. जयपुर में गणतंत्र दिवस पर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह को सुरक्षित तरीके से सम्पन्न कराने के लिए अतिरिक्त चौकसी बरती जा रही है. पुलिस की ओर से त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरा भी तैयार किया गया है. वहीं शहर में यातायात व्यवस्था के विशेष प्रबंध किए गए है.

जयपुर पुलिस की ओर से गणतंत्र दिवस के मुख्य आयोजन स्थल एसएमएस स्टेडियम से लेकर चारदिवारी तक के आसपास के इलाकों में चप्पे-चप्पे पर नजर रखने के लिए लगभग 2 हजार जवानों को तैनात किया जा रहा है. इनमें विशेष कमांडो भी शामिल हैं. पुलिस ने आरएसी और क्यूआरटी की टीमों को भी हथियारों के साथ शहर के सार्वजनिक और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर लगाया है. 

आयोजन स्थल और आसपास के इलाके को सुरक्षा के लिहाज से 8 सेक्टरों में बांटा गया है. सभी सेक्टर में सुरक्षा की जिम्मेदारी एसीपी स्तर के अधिकारी को सौंपी गई है. वहीं 2 सेक्टर को मिलाकर एक जोन बनाया गया है जिसकी जिम्मेदारी डीसीपी स्तर के अधिकारी को सौंपी गई है. आयोजन स्थल के आसपास सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं. आईबी व अन्य सुरक्षा एजेंसियों से मिले इनपूट के बाद कमिश्नरेट की ओर से अलर्ट जारी किए गए हैं. जिसके चलते सादा वस्त्रों में भी शहर में पुलिसकर्मी निगरानी बनाए हुए है.

गणतंत्र दिवस पर शहर में यातायात के विशेष इंतजाम किए गए हैं. एसएमएस स्टेडियम में वीआईपी और आम लोगों के प्रवेश के अलग अलग इंतजाम किए गए हैं. डीसीपी ट्रैफिक पूजा अवाना पार्किंग की व्यवस्था एसएमएस इंवेस्टमेटं ग्राउंड और अमरुदों के बाग में की गई है. साथ ही अंबेडकर सर्किल से सुबह यातायात को डायवर्ट करने के निर्देश जारी किए गए हैं. 

समूची राजधानी क्षेत्र में पुलिस की ओर से पैनी नजर रखी जा रही है. गणतंत्र दिवस पर आमजन को कोई परेशानी ना हो इसका भी विशेष ध्यान रखा गया है. महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस ने महिला बटालियन को तैनात कर दिया है. हाईटेक कंट्रोल रुम से शहर के चप्पे चप्पे पर नजर रखी जा रही है.