close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: दूध की थैली को रिसाइकिल करने के लिए RCDF ने तैयार किया अनोखा प्रस्ताव

एकत्रित करने के बदले में सरस बूथ संचालकों को डेयरियों की ओर से नि:शुल्क कांटा उपलब्ध कराने का प्रस्ताव है. बूथों पर उपभोक्ता हर महीवे की 1 से 8 तारीख तक थैलियां जमा करा सकते हैं.

जयपुर: दूध की थैली को रिसाइकिल करने के लिए RCDF ने तैयार किया अनोखा प्रस्ताव
प्रतीकात्मक तस्वीर

दामोरदर प्रसाद जयपुर: पर्यावरण संरक्षक के लिए आरसीडीएफ सरस दूध में सप्लाई होने वाली पॉलिथीन को वापस लेने की बड़ी पहल करने जा रहा है. इसके लिए आरसीडीएफ स्तर पर प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है. एमडी डॉ. वीना प्रधान से मंजूरी मिलने के बाद इसे संभवत सितंबर में लागू किया जा सकता है. प्रस्ताव के तहत उपभोक्ताओं से 10 रुपए प्रति किलोग्राम में दूध की खाली थैलियां बूथ एजेंट खरीद करेंगे. इसके बदले बूथ संचालकों को 2 रुपए कमिशन के साथ 12 रुपए प्रतिकिलोग्राम के मिलेंगे. सरस बूथ से खाली थैलियों को एकत्रित करने का काम संबंधित क्षेत्र में दूध सप्लाई करने वाला डिस्ट्रीब्यूटर करेंगे. डिस्ट्रीब्यूटर थैलियों को डेयरी में जमा कराएगा. इसके बदले भी उन्हें कुछ कमिशन दिया जाएगा.

हर माह की 1 से 8 तारीख के बीच करा सकेंगे जमा थैलिया 
एकत्रित करने के बदले में सरस बूथ संचालकों को डेयरियों की ओर से नि:शुल्क कांटा उपलब्ध कराने का प्रस्ताव है. बूथों पर उपभोक्ता हर महीवे की 1 से 8 तारीख तक थैलियां जमा करा सकते हैं. जमा कराई गई थैलियों के बदले मिलने वाली राशि उपभोक्ता चाहे तो सरस दूध में एडजेस्ट कर सकता हैं या फिर नगद ले सकते हैं. 

डेयरी में एकत्रित होने वाली थैलियों को टेंडर के माध्यम से अभी तो रिसाइक्लिंग करने वाली कंपनी को दिय जाएगा. इसके बाद डेयरियों को रिसाइक्लिंग प्लांट लगाना होगा. वर्तमान में भीलवाड़ा डेयरी, दिल्ली की एक कंपनी को सरस दूध की रिसाइकिल होने वाली थैलियां सप्लाई कर रही है. बाद में डेयरी में प्लांट लगाया जाएगा.