Rajasthan: जुलाई के दूसरे या तीसरे हफ्ते में होगा कैबिनेट विस्तार! जिला स्तर पर जल्द होगी संगठन में नियुक्तियां

 सीएम का मानना है कि अब पायलट खेमें को उनकी मांग के अनुरूप नहीं बल्कि जितने विधायक उनके साथ हैं उसी के अनुरूप उनको प्रतिनिधित्व मिलना चाहिए. 

Rajasthan: जुलाई के दूसरे या तीसरे हफ्ते में होगा कैबिनेट विस्तार! जिला स्तर पर जल्द होगी संगठन में नियुक्तियां
अशोक गहलोत से राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अजय माकन ने की मुलाकात. (फाइल फोटो)

Jaipur: जयपुर के दो दिवसीय दौरे से कांग्रेस के प्रभारी अजय माकन आज दिल्ली लौट गए हैं. दो दिनों में माकन ने मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ दो अलग-अलग बैठकें की. सीएम के साथ माकन का लंबा मंथन चला. कल रात को सीएम आवास पर डिनर के दौरान हुई 3 घंटे की बातचीत के अलावा आज भी माकन ने सुबह करीब डेढ घंटे तक सीएम से डिस्कशन किया. दोनों नेताओं की इस बैठक में मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर पार्टी आलाकमान के तैयार किए गए फार्मूले पर बातचीत हुई. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने माकन को कई अहम सुझाव दिए हैं. बसपा से कांग्रेस में आए और निर्दलीय विधायकों के मुद्दे पर भी अपनी बात कही है. सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों के लिए सहमत हो गए हैं लेकिन वे फार्मूले में कुछ बदलाव चाहते हैं. सीएम का मानना है कि अब पायलट खेमें को उनकी मांग के अनुरूप नहीं बल्कि जितने विधायक उनके साथ हैं उसी के अनुरूप उनको प्रतिनिधित्व मिलना चाहिए. 

बगावत के समय सरकार बचाने वाले बसपा से आने वाले विधायक और निर्दलीय विधायकों का भी पूरा ख्याल रखा जाना जरूरी है. राजनीतिक नियुक्तियों जिला अध्यक्षों और ब्लॉक अध्यक्षों के मसले पर लगभग सहमति बन गई है. अजय माकन ने भी कहा है कि सीएम के साथ बातचीत सकारात्मक रही है. लगभग सभी मुद्दों पर सहमति है. असहमति जैसी कोई बात नहीं है. मुख्यमंत्री के साथ हुई बातचीत के आधार पर अजय माकन कांग्रेस आलाकमान सोनिया गांधी को अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे.

दरअसल, मंत्रिमंडल विस्तार राजनीतिक नियुक्तियों में अपनी जगह बचाए रखने जगह हासिल करने को लेकर आज कई मंत्रियों विधायकों ने भी अजय माकन से मुलाकात की. अजय माकन से होटल मेरियट में मिलने वाले मंत्रियों में अर्जुन राम बामणिया, विधायक रफीक खान, गोविंद राम मेघवाल, पदमाराम मेघवाल और कांग्रेस नेता धर्मेंद्र राठौड़ के नाम शामिल रहे.

ये भी पढ़ें-गहलोत-माकन की मुलाकात से मंत्रिमंडल विस्तार के कयास तेज, पायलट गुट के विधायकों से भी होगी मुलाकात

 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के साथ भी अजय माकन ने अलग से बैठक कर प्रदेश कार्यकारिणी के विस्तार और जिला अध्यक्षों की नियुक्ति को लेकर भी चर्चा की. गहलोत खेमें के वरिष्ठ विधायक और मुख्य सचेतक महेश जोशी ने कहा है कि माकन आलाकमान का संदेश लेकर आए हैं. कांग्रेस के भीतर कोई गुटबाजी नहीं है. जबकि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट (Sachin Pilot) के जयपुर में होने के बावजूद अजय माकन की उनसे मुलाकात नहीं हुई. महिला कांग्रेस के कार्यक्रम में शामिल होने आए सचिन पायलट ने कहा है कि प्रदेश प्रभारी जो कह रहे हैं उसे गंभीरता से लिया जाना चाहिए.

अजय माकन दोपहर 2 बजे की फ्लाइट से वापस दिल्ली लौट गए हैं. माकन के इस दौरे के बाद अब कांग्रेस के नेता कार्यकर्ता एक ही सवाल पूछ रहे हैं कि आखिर इस दौरे का परिणाम क्या निकला है. कांग्रेस के सूत्र बता रहे हैं कि अजय माकन ने इस दौरे के दौरान मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर चल रहा गतिरोध खत्म कर दिया है. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ उनका संवाद शुरू हो गया है और अजय माकन को पूरी उम्मीद है कि वह राजस्थान कांग्रेस के दोनों खेमों के बीच एक सेतु के तौर पर काम कर पार्टी के विधायकों नेताओं और कार्यकर्ताओं का इंतजार जल्द खत्म करवाने में कामयाब रहेंगे.