गुर्जर, चार अन्य जातियों को पांच प्रतिशत आरक्षण नहीं मिला तो होगा आंदोलन: बैंसला

उन्होंने कहा कि आठ फरवरी को सवाई माधोपुर जिले के मलराना डूंगर में आयोजित बैठक में आंदोलन की आगे की रणनीति के बारे में फैसला किया जायेगा.

गुर्जर, चार अन्य जातियों को पांच प्रतिशत आरक्षण नहीं मिला तो होगा आंदोलन: बैंसला
फाइल फोटो

जयपुर: गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला ने कहा है कि सरकार ने यदि गुर्जर और चार अन्य जातियों को पांच प्रतिशत आरक्षण नहीं दिया तो आठ फरवरी से राज्य में गुर्जर आरक्षण आंदोलन फिर से शुरू किया जाएगा. अजमेर में मंगलवार को आयोजित गुर्जर समाज की बैठक में बैंसला ने मांग नहीं माने जाने पर आंदोलन की चेतावनी दी है. बैंसला ने कहा, ''हमें पांच प्रतिशत आरक्षण चाहिए, कांग्रेस ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में इस बारे में वादा किया था और अब हम कांग्रेस सरकार से सरकारी दस्तावेज बन चुके घोषणा पत्र के वादे को पूरा करने की मांग कर रहे हैं.''

उन्होंने कहा कि आठ फरवरी को सवाई माधोपुर जिले के मलराना डूंगर में आयोजित बैठक में आंदोलन की आगे की रणनीति के बारे में फैसला किया जायेगा. अगर सरकार ने तब तक इस संबंध में कोई फैसला नहीं किया तो आंदोलन शुरू किया जाएगा. उन्होंने कहा कि आंदोलन के तहत राजमार्गों और सड़कों को अवरूद्व किया जाएगा. गुर्जर समाज सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में प्रवेश के लिये गुर्जर, रायका-रेबारी, गड़िया लुहार, बंजारा और गड़रिया समाज के लोगों को पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहा है. वर्तमान में अन्य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के अतिरिक्त 50 प्रतिशत की कानूनी सीमा में गुर्जर को अति पिछड़ा श्रेणी के तहत एक प्रतिशत अलग से आरक्षण मिल रहा है.

(इनपुट भाषा से)