• 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    353बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    90कांग्रेस+

  • अन्य

    99अन्य

आज जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का है अंतिम दिन, कई महत्वपूर्ण मुद्दो पर हो रही है चर्चा

समापन के दिन कई महत्वपूर्ण विषयों पर कई सत्रों का आयोजन किया गया है.

आज जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का है अंतिम दिन, कई महत्वपूर्ण मुद्दो पर हो रही है चर्चा
जयपुर लिट्रेचर फेस्टिवल के एक कार्यक्रम में वक्ता. (फोटो साभार: सोशल मीडिया)

जयपुर: राज्य में हर साल आयोजित होने वाले जयपुर लिट्रेचर फेस्टिवल 2019 का सोमवार को समापन होने जा रहा है. समापन के दिन कई महत्वपूर्ण विषयों पर सत्र का आयोजन किया गया है. इस दौरान देश के कई प्रख्यात लेखक, पत्रकार और राजनेता मौजूद रहेंगे.

आज कुंभ को लेकर खास सेशन की शुरूआज सुबह 10 बजे से हुई है. जिसमें ''द ग्रेटेस्ट गैदरिंग ऑन अर्थ" नामक किताब पर अवनिश अवस्थी के साथ चर्चा हो रही है.

इसके बाद देश में एक संवेदनशील विषय माने जाने वाले रेप को लेकर भी विमर्श होगा. जिस दौरान सोहिला अब्दुलाली के साथ नमिता भंडारे मौजूद रहेंगे.

वहीं, 12.30 बजे दोपहर में देश के प्रख्यात पत्रकार करण थापर ''द डेविल्स एवोकेट'' नामक सत्र के दौरान कई मुद्दों पर विमर्श करेंगे. 

जबकि दोपहर 2.30 बजे "शैड्स ऑफ़ लाइफ" नामक बुक पर एक सेशन चारबाग वेन्यू पर हो रहा है. इसमें कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पत्रकार बरखा दत्त के साथ चर्चा करेंगे. इसके बाद कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद के साथ 'एग्जामीनिंग फेथ' पर सेशन के दौरान हरदीप सिंह पूरी मंच पर मौजूद रहेंगे. 

कार्यक्रम के अंतिम सत्र के दौरान फिर से अभिनेत्री मनीषा कोइराला "ब्रेकिंग फ्री: अ न्यू काइंड ऑफ़ ब्यूटीफुल" पर चर्चा के दौरान अपनी बेबाक राय रखेंगी.

वैसे अभिनेत्री मनीषा कोइराला ने यहां रविवार को कहा था कि बुरा दौर असफलता का परिचायक नहीं होता है, लेकिन यह आपको कई नए सबक सिखा सकता है और सीख दे सकता है. कैंसर पर लिखी अपनी किताब पर चर्चा के दौरान उन्होने कहा था कि कैंसर ने एक इंसान के तौर पर उन्हें बदल दिया और वह कहीं ज्यादा दयालु सौम्य हो गईं हैं.

वार्षिक ZEE जयपुर साहित्य उत्सव (जेएलएफ) गुरुवार से शुरू हुआ था. इस दौरान कार्यक्रम में 350 से अधिक लेखक, विचारक, मानवतावादी, राजनीतिज्ञ और अन्य लोग हिस्सा लिया है. कार्यक्रम का आयोजन जयपुर के ऐतिहासिक दिग्गी पैलेस में किया गया है. पांच दिन तक चलने वाला ZEE जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का आयोजन शुरू होने के बाद से अब तक देश और दूनिया के कई प्रख्यात लेखक हिस्सा ले चुके हैं.