गहलोत सरकार की सालगिरह कार्यक्रम का तीसरा दिन, बिरला सभागार में MSME कॉन्क्लेव का आयोजन

राजधानी के बिरला ऑडिटोरियम में आज MSME कॉन्क्लेव का आयोजन किया गया.   

गहलोत सरकार की सालगिरह कार्यक्रम का तीसरा दिन, बिरला सभागार में MSME कॉन्क्लेव का आयोजन
बिरला ऑडिटोरियम में MSME कॉन्क्लेव का आयोजन

जयपुर: राजधानी के बिरला ऑडिटोरियम में आज MSME कॉन्क्लेव का आयोजन किया गया. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत(CM Ashok Gehlot), उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा, ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला, मंत्री रघु शर्मा, मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, मंत्री लालचन्द कटारिया, मंत्री सुखराम बिश्नोई और मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने इस MSME कॉन्क्लेव में शिरकत की. कार्यक्रम में मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा, उदयलाल आंजना, ममता भूपेश, राजेन्द्र यादव, महेश जोशी, महेंद्र चोधरी, कुंजीलाल मीना, अजिताभ शर्मा, कुलदीप रांका भी मौजूद रहे.

इस दौरान सीएम गहलोत(CM Ashok Gehlot) ने औद्योगिक विकास नीति-2019, राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना-2019, मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना, सौर ऊर्जा नीति, पवन एवं हाइब्रिड ऊर्जा नीति जारी की. कार्यक्रम में राजस्थान निर्यात पुरस्कार और उद्योग रत्न पुरस्कार दिए गए. इस कार्यक्रम का मकसद प्रदेश में निवेश को बढ़ाना है. मोटे तौर पर सरकार को इन नई नीतियों के जरिए प्रदेश में एक लाख करोड़ के निवेश की उम्मीद है.

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत(CM Ashok Gehlot) ने अपने संबोधन में कहा कि सरकार 3 दिन से जश्न नहीं मना रही है, बल्कि एक साल का लेखा जोखा दे रही है. राजस्थान विकसित राज्यों की श्रेणी में बढ़ता जा रहा है. सीएम गहलोत(CM Ashok Gehlot) ने 200 मेगावाट का सोलर पार्क लगाने का वादा किया. उन्होंने कहा कि मेरी केंद्र सरकार से अब अपील है, रिफाइनरी का काम जल्द पूरा कराने में मदद करे.  

कार्यक्रम में उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा ने कहा कि सरकार ने 3 साल तक नए उद्योग के लिए किसी भी सरकारी मंजूरी से छूट दी है. सीईटीपी लगाने के लिए अनुदान बढ़ाया है. नई निवेश नीति में कई छूट का प्रावधान किया है. नए उद्योग लगाने पर 7 साल तक 75 फीसदी तक टैक्स में छूट मिलेगी. बिजली ड्यूटी, स्टाम्प ड्यूटी में 100 फीसदी छूट मिलेगी. रीको की जमीनों की नीलामी में ई ऑक्शन शुरू होगा. औद्योगिक जमीनों के आवंटन में एससी एसटी का प्रावधान होगा.