कोटा की घटना ने उड़ाए सबके होश, दफन करने के बाद विक्षिप्त हालत में मिला बच्ची का शव

कोटा के कंसुआ मुक्तिधाम में सोमवार को एक नवजात बच्ची का शव विक्षिप्त अवस्था में मिलने से सनसनी फैल गई. 

कोटा की घटना ने उड़ाए सबके होश, दफन करने के बाद विक्षिप्त हालत में मिला बच्ची का शव
विक्षिप्त अवस्था में शव मिलने की सूचना

कोटा: शहर के कंसुआ मुक्तिधाम में सोमवार को एक नवजात बच्ची का शव विक्षिप्त अवस्था में मिलने से सनसनी फैल गई. विक्षिप्त अवस्था में शव मिलने की सूचना पर बच्ची के परिजन मौके पर पहुंचे. दरअसल 3 घंटे पहले ही परिजन शव को दफना कर गए थे. परिजनों का कहना है कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने इस तरह की करतूत की है. उसने शव को जमीन में से निकला है और उसे क्षत विक्षिप्त कर दिया है. परिजनों ने आक्रोश भी व्यक्त किया है.

परिजनों ने बताया कि बच्ची का जन्म 20 तारीख की रात को हुआ था और 22 तारीख की रात को उसका देहांत हो गया. परिजन मंगलवार को दोपहर 12:30 बजे ही उसे दफना कर गए थे और 3:30 बजे जब उन्हें शव मिलने की सुचना मिली तो वे उसे देखने आए, तो बच्ची का शव क्षत-विक्षत स्थिति में पूरे श्मशान में जगह-जगह बिखरा हुआ था. 

सूचना मिलने पर उद्योग नगर थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल शुरू कर दी. पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया लग रहा है कि किसी जानवर ने इस तरह की घटना को अंजाम दिया है. 

हालांकि परिजनों ने कहा है कि वह बच्ची को 3 फिट गहरे गड्ढे में दफना कर गए थे. साथ ही जिस जगह उसे दफनाया था, वहां उसके ऊपर बड़े-बड़े पत्थर रख कर गए थे. ऐसे में जानवर बड़े पत्थरों को नहीं हटा सकता है. 

वहीं उनका कहना है कि बच्ची के शव को डंडे से काट काट कर इधर-उधर फेंका गया है. यह करतूत किसी तांत्रिक या फिर किसी अन्य इंसान की ही है. क्योंकि जानवर अगर शव को निकालता तो, वह पूरा खा लेता. उसके टुकड़ों को क्षत विक्षिप्त करके इधर-उधर नहीं फेंकता.