close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एक बार फिर विवादों में राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन, पुलिस छावनी में तब्दील हुआ SMS स्टेडियम

चुनाव को लेकर जारी कार्यक्रम को अवैध बताते हुए आरसीए उपाध्यक्ष मोहम्मद इकबाल ने कहा कि चुनाव पूरी तरह से अवैध हैं क्योंकि चुनाव के लिए ना तो कार्यकारिणी की कोई मीटिंग हुई और ना ही अनुमति ली गई

एक बार फिर विवादों में राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन, पुलिस छावनी में तब्दील हुआ SMS स्टेडियम

जयपुर: राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन और विवादों का नाता है कि खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. पहले नागौर जिला क्रिकेट एसोसिएशन में रामेश्वर डूडी की एंट्री से विवाद और उसके बाद आरसीए सचिव आरएस नांदू की ओर से आरसीए के चुनाव कार्यक्रम जारी करने का विवाद. ये विवाद हैं कि खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहे और इन्हीं विवादों के चलते गुरुवार को पूरा एसएमएस स्टेडियम पुलिस छावनी के रूप में तब्दील हो गया.

पिछले दिनों आरसीए सचिव आरएस नांदू की ओर से आरसीए के चुनाव 22 सितम्बर को करवाने के आदेश जारी किए गए और उसके बाद से ही मानों आरसीए में घमासान शुरू हो गया. तीन दिन पहले आरसीए अध्यक्ष सीपी जोशी ने एक मीटिंग बुलाकर इन चुनावों को अवैध करार दे दिया लेकिन उसके बाद भी आरएस नांदू गुट की ओर से चुनाव कार्यक्रम को जारी रखा गया. गुरुवार को मतदान में हिस्सा लेने वाले जिला संघों पर आपत्ति का दिन था लेकिन सुबह से ही पूरे एसएमएस स्टेडियम को पुलिस छावनी के रूप में तब्दील कर दिया गया और इस दौरान स्टेडियम में किसी को अंदर नहीं जाने दिया गया. यहां तक कि रामेश्वर डूडी और आरसीए सचिव आरएस नांदू की गाड़ी को भी गेट पर ही रोक दिया गया. जिससे विवाद काफी बढ़ गया.

आरएस नांदू की ओर से चुनाव को लेकर जारी कार्यक्रम को अवैध बताते हुए आरसीए उपाध्यक्ष मोहम्मद इकबाल ने कहा कि चुनाव पूरी तरह से अवैध हैं क्योंकि चुनाव के लिए ना तो कार्यकारिणी की कोई मीटिंग हुई और ना ही अनुमति ली गई. इसके साथ ही रजिस्ट्रार की ओर से भी चुनाव को लेकर कोई अनुमति नहीं ली गई. इसके साथ ही मोहम्मद इकबाल ने कहा कि राजस्थान क्रिकेट में आरएस नांदू नाम का कोई व्यक्ति भी नहीं है.

वहीं चुनाव में हिस्सा लेने वाले डीसीओ पर हो रही आपत्ति के बाद नागौर जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रामेश्वर डूडी ने बिना आरसीए अध्यक्ष का नाम लिए निशाना साधा. रामेश्वर डूडी ने कहा कि एक व्यक्ति के अनुसार राजस्थान का क्रिकेट नहीं चल सकता है और जो चुनाव कार्यक्रम के दौरान पुलिस का पहला बैठाया गया है वो बिल्कुल गलत है. चुनाव कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे पदाधिकारियों को भी अनावश्यक रूप से परेशान किया गया. अगर मुझे सर्वसम्मति से नागौर डीसीए का अध्यक्ष चुना गया है तो जो बिल्कुल सही है. साथ ही रामेश्वर डूडी ने दो टूक शब्दों में जवाब देते हुए कहा कि आरसीए का जो चुनाव कार्यक्रम जारी किया गया है वो तय समय पर ही सम्पन्न होगा.

आरसीए सचिव आरएस नांदू ने सीपी जोशी गुट पर जबरदस्त प्रहार करते हुए कहा कि आरसीए में सचिव के पद पर मेरे निलंबन पर हाईकोर्ट की रोक है. इसके बाद मुझे मेरे पद से कैसे नकारा जा सकता है. आरसीए के चुनाव कार्यक्रम समय पर ही होंगे और अगर किसी को आपत्ति है तो कोर्ट का दरवाजा खटखटाया जा सकता है.

बहरहाल, आरसीए के चुनाव को लेकर रजिस्ट्रार ने भी बिना अनुमति के चुनाव तिथि को अवैध करार दिया है लेकिन इन सबसे बीच आज पूरे दिन अंडर-16 की ट्रायल में पहुंचे खिलाड़ियों को नुकसान उठाना पड़ा और गेट पर रोकने की वजह से कई खिलाड़ी समय पर ट्रायल में नहीं पहुंच सके. इसके साथ ही अभिभावकों को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ा.