बांसवाड़ा में 'मौत का सफर' करने को मजबूर लोग

बांसवाड़ा में रोजाना हर मार्ग पर सवारियों से भरे ओवरलोड वाहन सड़क पर धड़ल्ले से दौड़ते नजर आ रहे हैं.  

बांसवाड़ा में 'मौत का सफर' करने को मजबूर लोग
ऑटो में 25 से 30 सवारियां

बांसवाड़ा: जिले में लोग मौत का सफर करने को मजबूर हो गए हैं. बांसवाड़ा में रोजाना हर मार्ग पर सवारियों से भरे ओवरलोड वाहन सड़क पर धड़ल्ले से दौड़ते नजर आ रहे हैं. जानकारी के अनुसार परिवहन विभाग ने ऑटो में 6 सवारियां बिठाने के मापडंड रखे गए हैं, लेकिन ऑटो चालक ऑटो में 25 से 30 सवारियां बिठा कर ऑटो सड़कों पर दौड़ा रहे हैं. इतना ही नहीं ऑटो के छत पर भी सवारियों को बैठाया जा रहा है. तो ऑटों के पीछे भी सवारीयों को लटकाटे नजर आ रहे हैं.

ऑटो ही नहीं जिले में जीप का हाल भी ऐसा ही नज़र आ रहा है. जिस जीप में 8 से 9 सवारियां बिठाई जानी चाहिए. उस जीप पर 40 से अधिक सवारियां बिठाई जा रही हैं. जीप के बोनट से लेकर छत, दोनों साईड और पीछे सवारियों को लटाकाया भी जा रहा है. तो बसों की छत पर भी बैठ कर लोग सफर करते नजर आ रहे हैं.

दरअसल सवारियों से भरे ओवरलोड वाहनों से जिले में कई बार हादसे हो चुके हैं. इनमें कई लोगों की जान तक जा चुकी है. तो कई लोग घायल भी हो चुके हैं, लेकिन बावजूद इसके ओवरलोड वाहन आसानी से बिना रोकटोक के सड़को पर दौड़ते नजर आ रहे हैं.

जानकारी के अनुसार जिले में ओवरलोड वाहनों पर जहां एसपी केसरसिंह शेखावत सख्त नजर आ रहे हैं. एसपी की देखरेख में पुलिस ने कई ओवरलोड वाहनों के चालान भी काटे, लेकिन दूसरी ओर परिवहन विभाग ओवरलोड वाहनों पर पूरी तरह से आंखे बंद करके बैठा हुआ है. इस गंभीर मामले में भी परिवहन विभाग कोई ध्यान नहीं दे रहा है.