close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: मटके का पानी पीने से 1 महिला की मौत, 15 लोग हुए बीमार

पीएमओ ने बताया कि ये लोग कल रात को लालेवाला गांव में महिला की मौत होने पर संस्कार में शामिल होने के लिए आये थे. जहां इन्होने एक मटके से पानी पीया. 

राजस्थान: मटके का पानी पीने से 1 महिला की मौत, 15 लोग हुए बीमार

श्रीगंगानगर/ ओंकार शर्मा: राजस्थान के श्रीगंगानगर के लालेवाला गांव में जहरीला पानी पीने से एक महिला की मौत हो गई तो वहीं 14 लोगों की तबियत बिगड़ गई. घटना गुरुवार दोपहर की है. जब लालेवाला गांव के रहने वाले मनीराम मेघवाल के घर में रखे मटके का पानी पीने से घर के पांच सदस्यों की अचानक तबियत खराब हो गयी. 

तबियत ज्यादा बिगड़ने पर मनीराम मेघवाल की 53 वर्षीय पत्नी सुशीला देवी को इलाज के लिए श्रीगंगानगर लाया जा रहा था तभी उसने रास्ते में दम तोड़ दिया. पानी पीने से बीमार हुए मनीराम मेघवाल, उसके दो पुत्र और दो पुत्रवधुओं की तबियत खराब होने से उन्हें इलाज के लिए श्रीगंगानगर के एक निजी अस्पाल में भर्ती करवाया गया. जहां उनका इलाज चार रहा है. उधर दूषित पानी पीने से सुशीला की हुई मौत की जानकारी लूणकरणसर के पास रहने वाले सुशीला के पीहर पक्ष को मिली तो वहां से लगभग दस लोग देर रात लालेवाला उनके घर पहुंचे जहां प्यास लगने पर उनको भी रात करीब एक बजे उसी मटके से पानी पीने को दिया गया. 

उसके थोड़ी देर बाद उनकी भी तबियत बिगड़ गई तो उन्हें श्रीगंगानगर के जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया. जहां डॉक्टरों द्वारा उनका इलाज किया जा रहा है. उधर निजी अस्पताल में भर्ती मनीराम मेघवाल उनके पुत्र, पुत्रवधुओं के स्वास्थ्य में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है. जिला अस्पताल के पीएमओ जेएस कामरा ने बताया की आज सुबह तीन महिला और 6 पुरुष तबियत बिगड़ने से अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती हुए हैं. 

पीएमओ ने बताया कि ये लोग कल रात को लालेवाला गांव में महिला की मौत होने पर संस्कार में शामिल होने के लिए आये थे. जहां इन्होने एक मटके से पानी पीया. जिसके बाद पांच लोगों को उसी समय उल्टियां आने लगी. पीएमओ ने बताया की जिस मटके से पहले घर के सदस्यों ने पीना पीया था उसमें से एक महिला की मौत हो गई है. वहीं पानी पीने से बिगड़ी तबियत के बाद जिला अस्पताल में भर्ती हुए नो लोगों की तबियत अब पहले से ठीक है और अस्पताल में इलाज किया जा रहा है. 

उधर घटना के बाद मौके पर पहुंची घमूड़वाली पुलिस ने मटके से पानी के एफएसएल के लिए सैम्पल लिए हैं. लालेवाला गांव के सरपंच तेजेन्द्र सिंह ने बताया कि मनीराम मेघवाल के घर पर रखे मटके से कल दोपहर को खाना खाने के बाद घर के छह सदस्यों ने पानी पिया जिसके बाद सभी को उल्टियां होने लगी. इलाज के लिए श्रीगंगानगर ले जाते समय मनीराम मेघवाल की पत्नी सुशीला देवी की मौत हो गई थी.