राजस्थान पुलिस ने ऑनलाइन ठगी के 3 मास्टरमाइंड को केरल से किया गिरफ्तार

स्थानीय पुलिस की मदद लेकर केरल के कोझिकोड निवासी शरीन राग, संदीप और अरशद को गिरफ्तार कर लिया है

राजस्थान पुलिस ने ऑनलाइन ठगी के 3 मास्टरमाइंड को केरल से किया गिरफ्तार
तीनों आरोपियों के उद्योग नगर थाना पुलिस कोटा ले आई है

कोटा: साइबर क्राइम सबसे तेजी से बढ़ता क्राइम है. फर्जी तरीके से पहले तो अनजान और भोले भाले लोगों से उनके एटीएम का पासवर्ड और ओटीपी पूछ कर खाते में सेंध लगा दी जाती है और पलक झपकते ही खाता साफ़ हो जाता है.वहीं ऐसे केस में चोरों को पकड़ना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती होती है. ऐसे ही ऑनलाइन ठगी के आरोपियों को पकड़ने में कोटा पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है. ऐसे ही 3 बदमाश मंगलवार को कोटा पुलिस के हत्थे चढ़ गए.

खबर के मुताबिक कोटा की पुलिस ने इन्हें केरल से दबोच लिया है. दरसअल ऑनलाइन ठगी के शिकार हुए एक पीड़ित व्यक्ति ने अवसाद में आकर आत्महत्या कर ली थी. जिसके सन्दर्भ में मृतक के परिजनों ने उद्योग नगर थाने में परिवाद दर्ज करवाया था तभी से उद्योग नगर थाना पुलिस को इनकी तलाश थी.

जानकारी के अनुसार प्रेम नगर निवासी महावीर प्रसाद को उक्त आरोपियों ने फोन कर 25 लाख रुपए की लॉटरी का झांसा दिया था. वह इस झांसे में आ गया और उसने आरोपियों के कहे अनुसार 48 हजार रुपए उनके अलग-अलग बैंक खातों में जमा करा दिए. जब उसे पता चला है कि ये किसी तरह की लॉटरी नहीं है. उसे ठगा गया है. महावीर प्रसाद अवसाद में चला गया और उसने आत्महत्या कर ली. 

महावीर प्रसाद के पिता मोतीलाल ने उद्योग नगर थाने में इसकी रिपोर्ट दर्ज कराई. साथ ही उसने सुसाइड नोट और मोबाइल भी दिया. जिसमें महावीर प्रसाद ने ऑनलाइन ठगी का जिक्र किया था. पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी. इस मामले में पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव के निर्देश पर उद्योग नगर एसएचओ विजय शंकर शर्मा के नेतृत्व में एसआई कमल सिंह, कॉन्स्टेबल कैलाश, देशराज व राजू लाल के टीम बनाई गई. जिसकी जांच में सामने आया कि आरोपी केरला निवासी हैं. 

ऐसे में तीनों आरोपियों को पकड़ने के लिए एक टीम केरला गई. वहां की स्थानीय पुलिस की मदद लेकर केरल के कोझिकोड निवासी शरीन राग, संदीप और अरशद को गिरफ्तार कर लिया है. इन तीनों आरोपियों के उद्योग नगर थाना पुलिस कोटा ले आई है. पुलिस को उम्मीद है कि इन आरोपियों से पूछताछ में कई अन्य खुलासे भी होंगे और भी कई वारदातों के बारे में भी सुराग मिल सकते है.