close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: केसीसी प्लांट में घुसे चोरों ने सिक्योरिटी गार्ड पर बरसाए पत्थर

केसीसी प्रोजेक्ट में चोरी और पत्थरबाजी की घटनाएं अब सामान्य हो गई हैं. हर महीने प्रोजेक्ट के बंद पड़े प्लांटो में चोरी की घटनाएं होती रही हैं.

राजस्थान: केसीसी प्लांट में घुसे चोरों ने सिक्योरिटी गार्ड पर बरसाए पत्थर
प्रतीकात्मक तस्वीर

खेतड़ी: हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड के केसीसी प्लांट में सोमवार-मंगलवार देर रात को चोरों ने धावा बोल दिया. केसीसी प्रोजेक्ट में आए दिन चोरी की वारदात और पत्थर बाजी रूकने का नाम नही ले रही है. जानकारी के अनुसार सोमवार देर रात करीब एक बजे 15-20 चोर टोली बनाकर प्रोजेक्ट में चोरी की नियत से घुस आए, चोरों की सूचना सुरक्षा गार्डो को लगने पर मौके पर पहुंचे तो चोर सुरक्षा गार्डो को देखकर पहाड़ी पर चढ कर पत्थर बरसाने लगे और गाड़ी के सीसे तोड़ दिए. 

सुरक्षा गार्ड ने अपना नाम प्रकाशित नहीं करने पर बताया कि सोमवार रात को 15-20 चोरों की टोली कंस्ट्रक्टर प्लांट के पीछे पहाड़ी के पास स्थित गनमैन पोस्ट को तोड़ कर चोर प्लांट में चोरी करने के लिए घुसे. चोरों को अंदर देख कर गन मैन अमी लाल यादव ने गेट पर सुरक्षा गार्डो को सूचना दी. सूचना पर सुरक्षा गार्ड मौके पर पहुंचे तो चोर भागकर पहाड़ी पर चढ़ कर सुरक्षा गाड़ी पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए. गाड़ी पर अचानक पत्थर आते देख सुरक्षा गार्डों गाड़ी छोड़ कर अपनी जान बचाई. चोरों ने पत्थरों से गाड़ी का सामने का शीशा तोड़ दिया. पहाड़ी से पत्थर आते देख सरुक्षा गार्डो ने हवाई फायर कर पुलिस को सूचना दी. सूचना पर मौके पर पुलिस पहुंच कर मौका मुआयना किया. जाते समय चोरों ने बिजली की दस-दस फुट मोटी केबल काट कर ले गए. 

बंद पड़े प्लांटो में होती है चोरी 
केसीसी प्रोजेक्ट में चोरी और पत्थरबाजी की घटनाएं अब सामान्य हो गई हैं. हर महीने प्रोजेक्ट के बंद पड़े प्लांटो में चोरी की घटनाएं होती रही हैं. बंद प्लांटो में सामान बिखरा रहता है तथा रात में इन प्लांटो में ना के बराबर कर्मचारी और गार्ड रहते हैं. इसी का फायदा उठा कर चोर टोली बनाकर इन प्लांटो में आसानी से चोरी कर लेते हैं. सिक्योरिटी गार्डों ने बताया हर महीने दो से तीन घटनाएं पत्थरबाजी की होती हैं. पहले भी सिक्योरिटी गार्डों पर हमला और पत्थरबाजी की घटनाएं हुई हैं.

बड़ा प्रोजेक्ट होने की वजह से पहले थी सीआईएसएफ के पास सिक्योरिटी
केसीसी का प्लांट बड़ा होने के कारण पहले सीआईएसएफ की सिक्योरिटी हुआ करती थी. अब प्रोजेक्ट की सुरक्षा दिल्ली की निजी कम्पनी ओरियल के पास है लेकिन अब नाम मात्र की ही सिक्योरिटी रह गई है. रात को पत्थरबाजी की घटना के बाद मात्र 5 सिक्योरिटी गार्ड ही पंद्रह-बीस चोरों का मुकाबला करने के लिए मौके पर पहुंचे. चोर पहाड़ी पर चढक़र पत्थर बरसा कर चोरी करने में सफल हो जाते हैं.