राजस्थान: लोकसभा की 10 सीटों पर यूथ कांग्रेस को मिली चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से मिले निर्देशों के बाद राजस्थान में यूथ कांग्रेस के लिए 10 लोकसभा सीटों का चयन किया गया है. इन सीटों को जिताने की जिम्मेदारी यूथ कांग्रेस की ही रहेगी

राजस्थान: लोकसभा की 10 सीटों पर यूथ कांग्रेस को मिली चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी
इन सीटों को लेकर यूथ कांग्रेस ने खास रणनीति तैयार कर ली है

जयपुर: राजस्थान में कांग्रेस के मिशन 25 में अब यूथ कांग्रेस ने कमर कस ली है. राजस्थान में लोकसभा की 25 सीटों में से 10 सीटों को जिम्मेदारी यूथ कांग्रेस को दी गई है. यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की बड़ी फौज ने इस 10 सीटों पर मोर्चा संभाल लिया है और भाजपा के खिलाफ चुनाव प्रचार की तैयारी युद्ध स्तर पर शुरू कर दी है.

राजस्थान में कांग्रेस के मिशन 25 को कामयाब बनाने में अब यूथ कांग्रेस भी चुनावी समर में उतर गया है. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से मिले निर्देशों के बाद राजस्थान में यूथ कांग्रेस के लिए 10 लोकसभा सीटों का चयन किया है. इन सीटों को जिताने की जिम्मेदारी यूथ कांग्रेस की ही रहेगी. इन सीटों को लेकर यूथ कांग्रेस ने खास रणनीति तैयार कर ली है. राजस्थान में यूथ कांग्रेस कर्ताओं का पूरा फोकस इन 10 लोकसभा सीटों पर ही रहेगा. 

सीकर, अलवर, बांसवाड़ा, जालौर-सिरोही, कोटा-बूंदी, जोधपुर, नागौर, टोंक-सवाईमाधोपुर, करौली, धौलपुर, भरतपुर सीट को जिताने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. यूथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक चांदना ने भी अपने कार्यकर्ताओं को इस लोकसभा चुनाव में करो या मरो की तर्ज पर जुटने का आह्वान किया है. 10 सीटों पर कांग्रेस की जीत को कामयाब बनाने के लिए यूथ कांग्रेस ने विशेष योजना तैयार की है. इस योजना के तहत कैंपन मैनेजमेंट एप को लांच किया गया है. इस ऐप के जरिए यूथ कांग्रेस कार्यकर्ता डोर टू डोर जनसंपर्क कर अपने मतदाताओं का पूरा रिकॉर्ड 10 दिनों के भीतर तैयार करेंगे. 

इसके अलावा राजस्थान के 6 जोन के जिम्मेदारी यूथ कांग्रेस के अलग-अलग प्रभारियों को सौंप दी गई है. प्रत्येक लोकसभा सीट पर यूथ कांग्रेस का एक का कन्वीनर और प्रत्येक विधानसभा सीट पर एक प्रभारी लगाया जाएगा. इसके अलावा प्रत्येक जिले में सोशल मीडिया की एक टीम रहेगी जो स्थानीय पार्टी नेताओं से मिले फीडबैक के आधार पर भाजपा के खिलाफ कैंपन तैयार करेगी. यूथ कांग्रेस की टीम प्रदेश स्तर पर राजस्थान में कांग्रेस के 25 सांसदों के 5 साल का रिपोर्ट कार्ड तैयार कर रही है 5 साल में इन सांसदों की नाकामी को जनता के बीच रखा जाएगा.

यूथ कांग्रेस के प्रदेश महासचिव आयुष भारद्वाज ने बताया कि 10 सीटों को जिताने के लिए यूथ कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत झोंकने की रणनीति तैयार की है. राजस्थान में यूथ कांग्रेस के करीब 7 लाख रजिस्टर्ड कार्यकर्ता हैं. इन 7 लाख कार्यकर्ताओं को इन 10 लोकसभा सीटों पर अलग-अलग जिम्मेदारियां सौंपी जाएगी. कार्यकर्ताओं की टीमें इन लोकसभा सीटों पर नुक्कड़ नाटक हल्ला बोल से लेकर भाजपा के सांसदों के खिलाफ प्रचार सामग्री तैयार करने और उसे वितरित कर कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने का काम करेगी. इसके अलावा युद्ध स्तर पर भी यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता चुनावी अभियान चलाएंगे. कागजों में यह योजना बेहतर नजर आती है लेकिन सवाल यह है कि पिछले कुछ समय से निष्क्रिय चल रहा यूथ कांग्रेस का संगठन इस योजना को क्या अमलीजामा पहना पाएगा.