close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: बढ़ती गर्मी से लोगो का हाल बेहाल, पारा पहुंचा 47 डिग्री पार

मौसम विभाग के अनुसार अगले तीन दिनों तक पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान में लू के थपेड़ों के चलते आम जनजीवन बेहाल होगा.

राजस्थान: बढ़ती गर्मी से लोगो का हाल बेहाल, पारा पहुंचा 47 डिग्री पार
दिन का तापमान करीब 2 से 3 डिग्री तक बढ़ चुका है. (प्रतीकात्मक फोटो)

ललित कुमार, जयपुर: नौतपा की शुरूआत के साथ ही भीषण गर्मी और उमस ने लोगों का हाल बेहाल कर दिया है. इसकी शुरूआत 26 मई की रात हुई और 26 मई के बाद से महज तीन दिनों में ही दिन का तापमान करीब 3 से 4 डिग्री तक बढ़ा चुका है.

इस दौरान रात का तापमान करीब 4 से 5 डिग्री तक बढ़ने से अब घरों में लगे कूलर और एसी भी दम तोड़ने लगे हैं. बुधवार को 47.3 डिग्री के साथ चूरू में सबसे गर्म दिन दर्ज किया गया . वहीं फलौदी में 34.8 डिग्री के साथ सीजन की सबसे गर्म रात दर्ज की गई.

प्रदेश में मई और जून की भीषण गर्मी सबसे ज्यादा सताने वाली होती है और मई के अंत में गर्मी ने ये साबित भी कर दिया. 26 मई को नोतपा की शुरूआत के साथ भीषण गर्मी और उमस ने ऐसा प्रचंड प्रकोप दिखाना शुरू कर दिया है की महज तीन दिन में ही लोगों के हाल बेहाल हो गए हैं.

सुबह सूर्य उदय के साथ ही सूर्य की तेज तपीश शुरू हो रही है साथ ही पूरे दिन लू के थपेड़ों ने जनजीवन को प्रभावित किया है. प्रदेश के करीब सभी जिलों में दिन का पारा 44 डिग्री के पार पहुंच चुका है. इसके साथ ही राजधानी जयपुर में इस सीजन का सबसे गर्म दिन 44.5 डिग्री बुधवार को दर्ज किया गया.

इस दौरान दिन का तापमान करीब 2 से 3 डिग्री तक बढ़ चुका है. जहां, अजमेर में तापमान 44 डिग्री, जयपुर 44.5 डिग्री, कोटा 45.3 डिग्री, डबोक 41.6 डिग्री, बाड़मेर 45.2 डिग्री, चूरू 47.3 डिग्री, जैसलमेर 45.5 डिग्री, जोधपुर 44.7 डिग्री, बीकानेर 46.8 डिग्री, श्रीगंगानगर 46.8 डिग्री पारा दर्ज किया गया.

मौसम विभाग के अनुसार अगले तीन दिनों तक पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान में लू के थपेड़ों के चलते आम जनजीवन बेहाल होगा. इस दौरान जहां पूर्वी जिले के 16 जिले तो वहीं पश्चिमी राजस्थान के 10 जिलों में भीषण गर्मी और लू के थपेड़े आम लोगों की जमकर परीक्षा लेंगे.

मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले कुछ दिनों में लू के थपेड़े जहां जनजीवन को प्रभावित करेंगे. वहीं दूसरी ओर इस बार की भीषण गर्मी कई जिलों मे अपने पिछले कई रिकॉर्ड भी तोड़ती हुई नजर आएगी.