close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उद्धव ठाकरे ने भरी हुंकार, कहा- राममंदिर निर्माण की घड़ी आ गई, पहली ईंट रखने तैयार रहें शिवसैनिक

ठाकरे ने कहा कि अब किसी के पास ज्यादा इंतजार करने का वक्त नहीं है.

उद्धव ठाकरे ने भरी हुंकार, कहा- राममंदिर निर्माण की घड़ी आ गई, पहली ईंट रखने तैयार रहें शिवसैनिक
ठाकरे ने कहा कि राम मंदिर श्रद्धा और आस्था की बात है. (फाइल फोटो)

मुंबई: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने हुंकार भरते हुए कहा है कि केंद्र सरकार को विशेष कानून बनाकर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण करना चाहिए. उन्होंने कहा कि अब किसी के पास ज्यादा इंतजार करने का वक्त नहीं है. राम मंदिर श्रद्धा और आस्था की बात है.

ठाकरे ने कहा कि दिवंगत बाला साहब भी पहले कह चुके कि राम मंदिर की पहली ईंट अगर शिवसैनिक रखते हैं तो यह बड़ी बात होगी. बाबरी मस्जिद तोड़ने की जिम्मेदारी तत्कालीन शिवसेना प्रमुख ने ली थी. अब केंद्र की बीजेपी सरकार भी राम मंदिर निर्माण पर फैसला ले.

शिवसेना प्रमुख ने अपने बयान में आगे कहा कि देश का हित देखकर हम साथ में रहें, क्योंकि पाकिस्तान को सबक सिखाना जरूरी हो गया है.

राजनीतिक जानकारों की मानें तो महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी के पुराने सहयोगी दल प्रमुख के इस बयान को केंद्र की सत्तारूढ़ मोदी सरकार पर दबाव बनाने के तौर पर देखा जा रहा है.

शिवसेना और बीजेपी के बीच आगामी विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Elections 2019) के लिए गठबंधन की घोषणा अभी तक नहीं हुई है. इसी बीच, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Udhav Thackeray) ने रविवार को मुंबई में पार्टी की बैठक में कार्यकर्ताओं से अकेले चुनाव लड़ने के लिए तैयार रहने को कहा. शिवसेना के सूत्रों ने दावा किया कि ठाकरे ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि अगर अकेले चुनाव लड़ने की स्थिति उत्पन्न होती है तो वह इसके लिए तैयार रहें. हालांकि, ठाकरे ने यह भी कहा कि वह अकेले चुनाव लड़ने के पक्ष में नहीं है.

माना जाता है कि बीजेपी ने शिवसेना को 108 सीटें ऑफर की हैं जिस पर शिवसेना तैयार नहीं है. महाराष्ट्र विधानसभा में 288 सीटें हैं और बीजेपी बाकी सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है. कुछ सीटें एनडीए के सहयोगी दलों को भी देने पर दोनों दल सहमत हैं. ऐसी स्थिति में शिवसेना सजह नहीं है. बीजेपी ने पहले ही यह साफ कर दिया है कि वह सत्ता में वापसी करेगी और उसके नेतृत्व में सरकार बनेगी.

उधर, शिवसेना युवा चेहरे आदित्य ठाकरे पर विधानसभा चुनाव के पहले दांव लगा रही है. आदित्य भी मतदाताओं को लुभाने के लिए राज्य में दौरा कर रहे हैं. शिवसेना आदित्य को मुख्यमंत्री के चेहरे के तौरे पर प्रोजेक्ट कर रही है. महाराष्ट्र का सियासी पारा दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है. चुनाव आयोग ने अभी तक विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं किया. सूत्रों के मुताबिक, 17 सितंबर को चुनाव आयोग आगामी विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों की घोषणा कर सकता है.