महाराष्‍ट्र : स्कूली छात्र ने प्रधामंत्री मोदी को पत्र लिखकर मांगी किताब, मिला ये तोहफा

छात्र ने दो पत्र स्कूल के असाइनमेंट के लिए लिखे और तीसरा पत्र पीएम मोदी को लिखा. इसमें उसनें 10वीं के एग्जाम को लेकर उनकी कि‍ताब 'एग्जाम वॉरियर' की मांग की. छात्र को जवाब देते हुए पीएम नें भी खत लिखा.

महाराष्‍ट्र : स्कूली छात्र ने प्रधामंत्री मोदी को पत्र लिखकर मांगी किताब, मिला ये तोहफा

कैलाश पुरी, पुणे:  शहर के एक स्कूल में 10वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्र लक्ष्‍मण को आने वाले एग्जाम का बहुत टेंशन था. एग्जाम टेंशन को लेकर उसने पीएम मोदी को पत्र लिखा. इसके साथ ही उसने उनकी लिखी 'एग्जाम वॉरियर' किताब की मांग भी उनसे की. उसने दो पत्र स्कूल के असाइनमेंट के लिए लिखे और तीसरा पत्र पीएम मोदी को लिखा. इसमें उसनें 10वीं के एग्जाम को लेकर उनकी कि‍ताब 'एग्जाम वॉरियर' की मांग की. छात्र को जवाब देते हुए पीएम नें भी खत लिखा. उन्‍होंने खत ही नहीं लिखा तो 'एग्जाम वॉरियर' किताब भी भेजी.

 

पुणे के चापेकर नगर में 10 बाय 10 के घर में रहने वाला छात्र लक्ष्मण प्रजापति के परिवार में हर एक चेहरे पर खुशी है. अहिल्या बाई स्कूल में पढने वाले  लक्ष्मण के पिता मनीष प्रजापति‍  नारियल पानी बेचकर अपना घर चलाते हैं. उनका बेटा लक्ष्‍मण 10वीं में अच्छे नंबर लाने के लिए जमकर मेहनत कर रहा है. उसे पीएम मोदी की 'एग्जाम वॉरियर' किताब के बारे में पता चला. इस किताब में टेन्शन सें दूर रहकर एग्जाम में अंक लानें के टिप्स हैं. उसे ये किताब पुणे में नहीं मिली. उसने पीएम मोदी को खत लिखा. इसमें उसने एग्जाम वॉरियर किताब का जिक्र किया.

पीएम ने छात्र लक्ष्मण को दिए जवाब में 10वीं की परीक्षा के लिए शुभकामनाएं दी हैं. इतना ही नहीं पीएम ने उसे एग्जाम वॉरिअर किताब भी तोहफे में दी है. लक्ष्मण नें कहा, मुझे प्रधानमंत्री का खत आया, मुझे बहुत खुशी हुई. मैं 10वीं की परीक्षा में 95 फीसदी अंक लाने का प्रयास करुंगा.

छात्र लक्ष्मण के पिता का कहना है कि, मुझे मेरे बेटे पर गर्व है. मेरे बेटे को पीएम का खत आया. उसके शिक्षा के लिए मैं कुछ कमी नहीं रखूंगा. वहीं स्कूल के टीचर गौरव सिद्धार्थ का कहना है कि लक्ष्मण नें हमें बताया कि वह प्रधानमंत्री को खत लिखेगा, हमने भी उसे कहा लिखो, हमें नही लगा था कि खत का जवाब पीएम देंगे, हमें गर्व है लक्ष्मण हमारा छात्र है.