Zee Rozgar Samachar

5 साल में PM मोदी राम मंदिर नहीं बनवा सके और विद्यासागर की मूर्ति बनवाना चाह रहे हैं : ममता बनर्जी

मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने डायमंड हार्बर में चुनावी रैली में कहा कि आपके गुंडा नेता यहां आए और कहा कि बंगाल कंगाल है. ममता बनर्जी ने सवाल किया कि क्‍या बंगाली लोग कंगाल होते हैं?

5 साल में PM मोदी राम मंदिर नहीं बनवा सके और विद्यासागर की मूर्ति बनवाना चाह रहे हैं : ममता बनर्जी
ममता बनर्जी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना. फाइल फोटो

नई दिल्‍ली : पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा. उन्‍होंने डायमंड हार्बर में चुनावी रैली के दौरान कहा कि पिछले पांच साल में आप (पीएम मोदी) राम मंदिर नहीं बनवा सके और आप विद्यासागर की प्रतिमा बनवाना चाह रहे हैं. ममता बनर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल की जनता आपके सामने भीख नहीं मांग रही. आपके गुंडा नेता यहां आए और कहा कि बंगाल कंगाल है. ममता बनर्जी ने सवाल किया कि क्‍या बंगाली लोग कंगाल होते हैं?

 

ममता बनर्जी ने गुरुवार को मथुरापुर में चुनावी रैली के दौरान भी कोलकाता में अमित शाह के रोड शो के दौरान महान शिक्षाविद् ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ने जाने को लेकर भी बीजेपी पर निशाना साधा था. ममता बनर्जी ने कहा था, 'ये लोग कभी बाबा साहेब आंबेडकर की मूर्ति तोड़ दे रहे हैं मेरठ में, कभी त्रिपुरा में, चुनाव के बाद मूर्ति दी थी, यह बीजेपी की आदत है. और परसों (मंगलवार) बंगाल में अमित शाह के नेतृत्व में ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ दी. हमें बीजेपी ने जो गुंडागर्दी की है उसका बदला लेना होगा. कोई इन्हें नहीं छोड़ेगा.'

ममता बनर्जी ने कहा, 'पीएम मोदी यूपी की चुनावी रैली में बोलते हैं कि हम विद्यासागर जी की मूर्ति बनवा देंगे, हम तेरे पैसे थोड़े लेंगे. बंगाल के पास पैसे हैं विद्यासागर की मूर्ति बनाने के लिए. 200 साल पुराना हेरिटेज है हमारा तुम लौटा पाओगे? जान लेकर जान वापस लौटा पाओगे? मेरे पास सरे वीडियो कॉपी हैं? और तुम कहते हो तृणमूल ने यह सब किया है? कान पकड़कर उठक बैठक करवाना चाहिए इस प्रधानमंत्री को एक बार नहीं लाख-लाख बार झूठ बोलने के लिए.'

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.