close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झुंझुनूं: मंडावा उपचुनाव की मतगणना आज, पहला रुझान सुबह 9 बजे तक आने की उम्मीद

 झुंझुनूं(Jhunjhunu) के मंडावा उपचुनाव(Mandawa Assembly By Election Results) को लेकर मतगणना गुरुवार को होगी. 

झुंझुनूं: मंडावा उपचुनाव की मतगणना आज, पहला रुझान सुबह 9 बजे तक आने की उम्मीद
मंडावा उप चुनाव को लेकर 21 अक्टूबर को मतदान हुआ था. (प्रतीकात्मक फोटो)

संदीप केडिया, झुंझुनूं: झुंझुनूं(Jhunjhunu) के मंडावा उपचुनाव(Mandawa Assembly By Election Results) को लेकर मतगणना गुरुवार को होगी. पहला रूझान सुबह करीब नौ बजे तथा परिणाम दोपहर को करीब 12 बजे आने की उम्मीद है. बुधवार को मतगणना स्थल का जिला कलेक्टर रवि जैन, एसपी गौरव यादव तथा एडीएम राजेंद्र अग्रवाल ने तैयारियों का जायजा लिया. 

कलेक्टर रवि जैन ने बताया कि मतगणना के लिए 12 टेबल लगाई गई. जिसके 22 राउंड होंगे. सुबह आठ बजे मतगणना शुरू हो जाएगी. सबसे पहले पोस्टल बैलेट खोले जाएंगे. पोस्टल बैलेट खुलने के बाद सुबह साढ़े आठ बजे से ईवीएम मशीनों में डाले गए वोटों की गणना होगी. इस लिहाज से उम्मीद जताई जा सकती है कि पहला रूझान करीब नौ बजे आएगा. इधर, मतगणना के समय सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त होंगे. 

एसपी गौरव यादव ने बताया कि मतगणना कक्ष तक की थ्री लेयर सुरक्षा चक्र बनाया गया है. इसके अलावा मतगणना स्थल के चारों ओर भी सुरक्षाकर्मियों का घेरा होगा. 

वहीं लोकसभा और विधानसभा चुनावों की तरह इस बार भी उसी तर्ज पर बैरिकेंटिंग होगी. उन्होंने बताया कि पासधारी व्यक्तियों और कर्मचारियों को सुबह पौने आठ बजे बाद मतगणना स्थल पर एंट्री नहीं दी जाएगी. इसके अलावा मोबाइल पर पूर्णतया पाबंदी रहेगी. 

आपको बता दें कि मंडावा उप चुनाव को लेकर 21 अक्टूबर को मतदान हुआ था. चुनावों में कांग्रेस की रीटा चौधरी तथा भाजपा की सुशीला सीगड़ा का सीधा मुकाबला है. वहीं कुल प्रत्याशियों की बात करें तो नौ उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. 

चुनावों में कुल 227414 मतदाता थे, इनमें से 158306 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया, जिनमें 76189 पुरूष व 82117 महिला मतदाता थे. कुल 69.61 प्रतिशत मतदान हुआ, जिनमें पुरूष मतदान प्रतिशत 64.71 व महिला मतदान प्रतिशत 74.88 रहा. तो कुल मिलाकर महिलाओं में वोटिंग करने का उत्साह ज्यादा था.