close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: निजी संस्था ने की अनोखी पहल, स्लम एरिया में महिलाओं को बांटी सैनेट्री नैपकिन

राजस्थान (Rajasthan)में सुनयना कल्चरल एजुकेशनल वेलफेयर सोसायटी सैनेटरी नेपकिन(Sanitary Napkin) वितरित कर रही है.

राजस्थान: निजी संस्था ने की अनोखी पहल, स्लम एरिया में महिलाओं को बांटी सैनेट्री नैपकिन
जयपुर के भांकरोटा से इसकी शुरुआत की गई.

जयपुर: एक तरफ गांधी सप्ताह (Gandhi Week) के तहत पूरे देशभर में स्वच्छता का अभियान (Clean India Mission) चलाकर स्वच्छ रहने के लिए प्रेरित किया जा रहा है. वहीं दूसरी और निजी संस्थाएं (NGO) भी इन काम में पीछे नहीं रही हैं. 

राजस्थान (Rajasthan) में सुनयना कल्चरल एजुकेशनल वेलफेयर सोसायटी सैनेटरी नेपकिन(Sanitary Napkin) वितरित कर रही है. संस्थान ने 10 लाख सैनेटरी नैपकिन बांटने का लक्ष्य रखा है. सबसे बड़ी बात ये संस्था कच्ची बस्ती या गरीब महिलाओं को सैनेट्री नैपकिन बांट रही है, जो इन्हें खरीदने में सक्षम नहीं है. इसके साथ साथ संस्था निशुल्क नैपकिन बांटने के साथ साथ महिलाओं को स्वच्छ रहने के लिए भी प्रेरित कर रही है. संस्था की ओर से सबसे पहली शुरुआत जयपुर(Jaipur) के भांकरोटा से की गई है. जिसके बाद संस्था प्रदेश के सभी जिलों में सैनेट्री नैपकिन बांटेगी. जो महिलाएं इसे खरीदने में सक्षम नहीं है और जिन्हें इसकी जानकारी नहीं है.

संस्था से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ता रिम्मू खंडेलवाल ने बताया कि जिस तरह से स्वच्छता का अभियान पूरे देश में महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती पर तेज हो गया है . उसी कड़ी में हमने भी इस नई पहल की शुरूआत की है. इस कड़ी में हम उन स्लम एरिया में जाकर महिलाओं को निशुल्क सैनेट्री नैपकिन बांट रहे है, जो इसे खरीदने में सक्षम नहीं है. इस अभियान के तहत पूरे प्रदेशभर में ऐसी ही जगह चिंन्हित कर रहे हैं. ताकि जिन्हे नैपकिन की जरूरत है, उन तक ये पहुंच सके.

इस अभियान के अंतर्गत सभी जिलों में महिलाओं को इस अभियान से जोड़कर विशेष टीम भी बनाई है. ताकि इस अभियान को सफल बनाया जा सके. इस अभियान की कुशा मलिक और मनीष भारद्धाज ने मिलकर शुरूआत की है.