PMC बैंक: प्रदर्शन के बाद खाताधारक की हार्ट अटैक से मौत, खातों में जमा थे 90 लाख

PMC बैंक में वित्तीय अनियमितता का मामला सामने आने के बाद RBI ने इस बैंक के ग्राहकों के लिए नकदी निकासी की सीमा तय करने के साथ ही बैंक पर कई तरह के अन्य प्रतिबंध लगा दिए हैं.

PMC बैंक: प्रदर्शन के बाद खाताधारक की हार्ट अटैक से मौत, खातों में जमा थे 90 लाख
संजय गुलाटी के पीएमसी बैंक में चार खाते थे (फाइल फोटो)

मुंबई: पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (PMC) बैंक घोटाले के सामने आने के बाद से खाताधारकों (account holders) को कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. सोमवार को पीएमसी बैंक के एक खाताधरक संजय गुलाटी की मौत हो गई है. 

संजय गुलाटी के पीएमसी बैंक (PMC bank) में कुल चार अकाउंट थे जिनमें करीब 90 लाख रुपये जमा थे. यह घोटाला सामने आने पर आरबीआई (RBI) द्वारा पीएमसी बैंक पर लगाई गई पाबंदियों के बाद से परेशान थे. 

संजय गुलाटी ने सोमवार (14 अक्टूबर) को एक विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया था. यह विरोध प्रदर्शन अदालत के बाहर हुआ था जहां पीएमसी बैंक घोटाले के आरोपियों की पेशी हुई थी.  प्रदर्शन के बाद वह घर लौटे और देर शाम को हार्ट अटैक से उनकी मौत हो गई.

सारी जमा पूंजी थी बैंक में जमा
संजय गुलाटी ( उम्र 51) मुंबई के अंधेरी के ओशिवरा के तारापोर गार्डन बिल्डिंग में रहते थे. जेट एअरवेज में उनकी नौकरी चली गई थी. उनका इनकम सोर्स बंद था. ऐसे में सारी जमा पुंजी उन्होंने एफडी की माध्यम से पीएमसी बैंक की ओशिवरा ब्रांच में जमा की थी. वह लार्ज डिपोजिटर के तौर पर लिस्टेड थे. पीएमसी बैंक में उनके चार खाते थे कुल मिलाकर 90 लाख रुपये जमा थे. वह पैसे निकाल नही पाने को लेकर परेशान थे. चार सदस्यो का यह परिवार था. गुलाटी अपने पीछे दो बच्चे और पत्नी को छोड गए है. जिसमें से एक बेटा स्पेशल चाइल्ड है.

संजय गुलाटी के रिश्तेदार राजेश दुआ ने बताया कि संजय बहुत ही परेशान थे, पीएमसी बैंक में उनके चार अकॉउंट थे कुल मिलाकर 80 लाख रुपये जमा थे. वो पैसे निकाल नही पाने को लेकर परेशान थे. 

आरबीआई ने लगा दी है पीएमसी पर पाबंदियां
बता दें पीएमसी बैंक में वित्तीय अनियमितता का मामला सामने आने के बाद आरबीआई ने इस बैंक के ग्राहकों के लिए नकदी निकासी की सीमा तय करने के साथ ही बैंक पर कई तरह के अन्य प्रतिबंध लगा दिए हैं.

सोमवार को (14 अक्टूबर) रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने पंजाब ऐंड महाराष्ट्र कॉपरेटिव बैंक (PMC) से छह महीने में रकम निकासी की सीमा बढ़ाकर 40 हजार रुपये कर दी है. पहले यह सीमा 25,000 रुपये थी. 

(इनपुट बागेश्री कानडे से भी)