close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे बोले, "वीर सावरकर को जो मानता नहीं, उसे चौक में पीटा जाना चाहिए"

दिल्ली विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस में रातोंरात वीर सावरकर, सुभाष चंद्र बोस और भगत सिंह की मूर्तियां स्थापित की गई थीं

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे बोले, "वीर सावरकर को जो मानता नहीं, उसे चौक में पीटा जाना चाहिए"
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: दिल्ली विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस में लगाई गई वीर सावरकर की मूर्ति पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. एनएसयूआई के भारी विरोध के बाद जब शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से इस मामले पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, "वीर सावरकर को जो मानता नहीं है, उसे चौक में पीटा जाना चाहिए. सावरकर का अपमान राहुल गांधी ने भी किया था, ऐसे औलादों को स्वतंत्रता की अहमियत नहीं समझेगी."

आपको बता दें कि दिल्ली विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस में रातोंरात वीर सावरकर, सुभाष चंद्र बोस और भगत सिंह की मूर्तियां स्थापित की गई थीं. जानकारी के मुताबिक आर्ट्स फैकल्टी गेट पर डूसू अध्यक्ष शक्ति सिंह ने सोमवार देर रात इन तीनों मूर्तियों को लगाया था. जिसके बाद एनएसयूआई ने इसके विरोध में वीर सावरकर की मूर्ति को जूतों की माला पहनाई थी और मूर्ति के मुंह पर कालिख पोती थी. बताया जा रहा है कि एबीवीपी ने प्रशासन से अनुमति लिए बिना यहां ये मूर्तियां स्थापित की थीं.

इस बारे में डूसू अध्यक्ष शक्ति सिंह का कहना है कि मूर्ति लगाने के लिए डीयू प्रशासन से कई बार मांग की गई थी, लेकिन हर बार मांग अनसुनी कर दी गई. इससे पहले डूसू नॉर्थ कैंपस का नाम वीर सावरकर के नाम पर रखे जाने की मांग हुई थी. इसके कुछ ही दिन बाद नॉर्थ कैंपस के गेट पर वीर सावरकर के साथ भगत सिंह और बोस की प्रतिमा लगाई गई है. आपको बता दें कि फिलहाल डूसू पर एबीवीपी का कब्जा है.