हमारी सरकार में साढ़े चार लाख नौकरियां दी गईं, रिश्‍वत-सिफारिश नहीं चली: CM योगी
X

हमारी सरकार में साढ़े चार लाख नौकरियां दी गईं, रिश्‍वत-सिफारिश नहीं चली: CM योगी

यूपी (UP) में अगले साल होने जा रहे असेंबली चुनाव (UP Assembly Election 2022) होने जा रहे हैं. इससे पहले सीएम योगी ने अपनी सरकार की उपलब्धियां जनता के सामने पेश की हैं. 

हमारी सरकार में साढ़े चार लाख नौकरियां दी गईं, रिश्‍वत-सिफारिश नहीं चली: CM योगी

लखनऊ: यूपी (UP) में अगले साल होने जा रहे असेंबली चुनावों (UP Assembly Election 2022) के लिए सभी दलों की तैयारियां धीरे-धीरे तेजी पकड़ रही है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने शुक्रवार को लखनऊ में टेक्नीकल असिस्टेंट के पर नियुक्त युवाओं को अपॉइंटमेंट लेटर बांटकर अपनी सरकार की उपलब्धियों का ब्योरा दिया. 

'यूपी में पारदर्शी तरीके से की गई नियुक्तियां'

सीएम योगी (Yogi Adityanath) ने कहा, 'पारदर्शी तरीके से की गई नियुक्तियों के जरिए यूपी को फायदा होगा. पहले पारदर्शी तरीके से नियुक्ति नहीं होती थी. हमारी सरकार में दी गई सभी सरकारी नौकरियां बिना सिफारिश और बिना रिश्वत के युवाओं को मिलीं हैं. इतनी पारदर्शी व्यवस्था पिछली सरकार में नहीं थी. अगर हमारी सरकार ने पारदर्शिता से नौकरी नहीं दी होती तो साढ़े चार साल में साढ़े चार लाख लोगों को नौकरी नहीं मिल पाती.'

'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में नंबर-2 बने'

उन्होंने कहा, 'हमारे पास देश का सबसे अच्छा मानव संसाधन है. इसके बावजूद कहीं न कहीं कोई कमी तो थी. अच्छे मानव संसाधन के बावजूद हम पीछे रहते थे. मगर विगत साढे चार वर्ष के बाद हम नंबर वन बन गए हैं. ये सब सामूहिक प्रयास से संभव हुआ है. इससे पहले यूपी के बारे में कहा जाता था कि यहां पर कोई कार्य संस्कृति नही है. कुछ भी ईमानदारी से लागू नहीं किया जा सकता है. आज देखिए, अब हम ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के मामले में देश में नंबर दो पर हैं.'

ये भी पढ़ें- आतंकवाद की जड़ कांग्रेस ने धारा 370 लगाकर जम्मू-कश्मीर में रोपी थी: CM योगी

'देशभर का पेट भर सकता है यूपी'

मुख्यमंत्री योगी (Yogi Adityanath) ने कहा, 'केंद्र की सबसे ज्यादा योजनाएं यूपी में लागू हैं. यहां सब कुछ होने के बावजूद हम पिछड़े होते थे लेकिन आज हम नंबर वन हैं. हम भारत को कृषि प्रधान देश मानते हैं. अगर हम यूपी में बेहतर तकनीक का प्रयोग कर लें तो पूरे देश का पेट भर सकते हैं. केंद्र सरकार यूपी को 20 कृषि केंद्र देना चाहती थी लेकिन पहले की सरकार ने इसे नहीं लिया. उन्हें डर था कि कृषि विज्ञान केन्द्र आएंगे तो कहीं किसानों को आधुनिक तकनीक न मिल जाए और वे जागरूक न हो जाएं.'

सीएम योगी (Yogi Adityanath) ने कहा, हमने आज 20 कृषि विज्ञान केंद्र खोले हैं. किसान को समय से जल, बीज और खाद मिल जाएं उसको ज्यादा फायदा होगा. यूपी में  145 हजार करोड़ रुपये का गन्ना किसानों को भुगतान किया जा चुका है.'

LIVE TV

Trending news