close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

200 करोड़ की ठगी करने वाले कॉल सेंटर गिरोह का पर्दाफाश, लकी ड्रॉ जीतने का देते थे झांसा

 आरोपी अब तब देश भर के नागरिकों से 200 करोड़ रुपये से भी अधिक की ठगी कर चुके हैं. पुलिस ने बताया कि आरोपी के साथ काम करने वाले एक दर्जन से ज्यादा लोग फरार हैं. 

200 करोड़ की ठगी करने वाले कॉल सेंटर गिरोह का पर्दाफाश, लकी ड्रॉ जीतने का देते थे झांसा
.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

नोएडा: पश्चिमी यूपी एसटीएफ ने फर्जी कॉल सेंटरों को ठगी करने के लिए आम लोगों का डाटा बेचने वाले गिरोह के सरगना को गिरफ्तार किया है.  एसटीएफ के सहायक पुलिस अधीक्षक विशाल विक्रम ने बताया कि देशभर में ग्राहकों का डाटा हैक करके ठगी करने की शिकायतें प्राप्त हो रही थीं .  पठानकोट, बैंगलुरु, चंडीगढ़, रायपुर, बीकानेर और यूपी के लोगों से ठगी की जा रही थी. एसटीएफ ने इन ठगों को गिरफ्तार करने के लिए साइबर मुखबिरों को सक्रिय कर दिया. इस क्रम में शनिवार को सेक्टर-142 स्थित अंसल कारपोरेट पार्क से एक साइबर अपराधी को गिरफ्तार किया गया.

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपी की पहचान बिहार के कैमूर निवासी नंदन राव पटेल के तौर पर हुई है. इसके पास से 14 लाख ग्राहकों का डाटा, दो मोबाइल, लैपटॉप, चार डेबिट कार्ड, 6 चेकबुक आदि बरामद हुई हैं. पुलिस ने बताया कि पटेल शॉपिंग कंपनियों के कर्मचारियों से साठगांठ कर प्रति व्यक्ति का डाटा 2-3 रुपये में खरीद लेता था.

इस डाटा को देश भर के फर्जी कॉल सेंटरों को 5 से 6 रुपये प्रति व्यक्ति की दर से बेच देता था. आरोपी खुद भी वेबसाइटों को हैक कर डाटा चोरी करता था. कॉल सेंटरों से ऑनलाइन शॉपिंग, बीमा कराने, लकी ड्रा निकलने आदि के नाम पर लोगों से ठगी जा रही थी. आरोपी के पास 14 लाख ग्राहकों का डाटा बरामद हुआ है.

यह गैंग अब तक करीब 200 करोड़ रुपये की ठगी कर चुका है. आरोपी अब तब देश भर के नागरिकों से 200 करोड़ रुपये से भी अधिक की ठगी कर चुके हैं. पुलिस ने बताया कि आरोपी के साथ काम करने वाले एक दर्जन से ज्यादा लोग फरार हैं.