माफिया दिलीप मिश्रा गैंग में पत्नी और बेटे समेत 16 लोग शामिल, पुलिस ने तैयार किया चार्ट

पुलिस के मुताबिक गैंग में शामिल सभी सदस्यों का आपराधिक इतिहास है. अब उसके गैंग से जुड़े सभी सदस्यों की संपत्तियों को चिन्हित किया जाएगा. गैंग के सदस्यों की चिन्हित संपत्तियों पर नियमानुसार विधिक कार्रवाई की जाएगी.

माफिया दिलीप मिश्रा गैंग में पत्नी और बेटे समेत 16 लोग शामिल, पुलिस ने तैयार किया चार्ट
फाइल फोटो

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश में प्रयागराज में माफियाओं के खिलाफ पुलिस ने एक बार फिर कार्रवाई शुरू कर दी है. माफिया दिलीप मिश्रा गैंग की पूरी तरह से पड़ताल करने के बाद गैंग में तेरह और सदस्यों को शामिल किया गया है. अब तक गैंगे में सिर्फ तीन लोग थे. पुलिस ने बुधवार को लिस्ट जारी करते हुए कहा कि गैंग के सभी सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.  

ये भी पढ़ें- आईपीएस मणिलाल पाटीदार की संपत्तियों को कुर्क करने की तैयारी शुरू, दो संपत्तियां चिह्नित

अवैध रूप से अर्जित आरोपियों की संपत्तियों की पहचान करके पुलिस कुर्क करेगी. औद्योगिक क्षेत्र निवासी दिलीप मिश्र की नैनी और औद्योगिक क्षेत्र में कई संपत्तियों को पुलिस गैंगस्टर एक्ट में कुर्क कर चुकी है.

दिलीप मिश्रा गैंग में उसके अलावा धनुहा गांव के दिलीप तिवारी, अरैल गांव के ब्रिजेश मिश्रा, बुनौना के धर्मेंद्र पांडेय गैंग में शामिल हैं. जितेंद्र और मनोज पांडे, विकास मिश्रा खपटिहा, राजेश यादव लवायन कला, श्रवण कुमार खिजिरपुर, नीरज सिंह, मुकुल मिश्रा, नकुल दुबे, बबलू यादव गुल्लु कोल लवायन कला गैंग के सदस्य हैं को शामिल किया गया है. दिलीप मिश्रा की पत्नी अर्चना मिश्रा और बेटा शुभम मिश्रा को पहले से ही गैंग का सदस्य घोषित किया गया है. दिलीप मिश्रा गैंग में शामिल होने वाले सभी लोग यमुनापार इलाके के रहने वाले हैं.

ये भी पढ़ें-  यूपी में नाबालिग लड़कियों के लिए गर्ल्स चिल्ड्रेन होम अपर्याप्त- इलाहाबाद हाईकोर्ट

दिलीप मिश्रा का संगठित गैंग लंबे समय से अपराधों में संलिप्त 
पुलिस के मुताबिक माफिया दिलीप मिश्रा का संगठित गैंग लंबे समय से अपराधों में संलिप्त है. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक इस गैंग नेअपराधों के जरिए अकूत सम्पति अर्जित की है.

सभी सदस्यों का आपराधिक इतिहास
पुलिस के मुताबिक गैंग में शामिल सभी सदस्यों का आपराधिक इतिहास है. अब उसके गैंग से जुड़े सभी सदस्यों की संपत्तियों को चिन्हित किया जाएगा. गैंग के सदस्यों की चिन्हित संपत्तियों पर नियमानुसार विधिक कार्रवाई की जाएगी. दिलीप मिश्रा के गैंग में शामिल किए गए नए सदस्यों से जुड़े लोगों की भी जांच की जाएगी.

जेल में बंद है दिलीप मिश्रा
बता दें कि दिलीप मिश्रा मौजूदा समय में फतेहगढ़ केंद्रीय कारागार में बंद है. दिलीप मिश्रा के खिलाफ प्रयागराज और मुंबई समेत अन्य जगहों पर 40 से अधिक आपराधिक मुकदमें दर्ज हैं. वर्ष 2010 में मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी पर हुए रिमोट बम से जानलेवा हमले में भी दिलीप मिश्रा आरोपी है. दिलीप को भदोही के बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के बेहद करीबियों में गिना जाता है.
दिलीप प्रयागराज के चाका ब्लॉक का लंबे समय तक प्रमुख रहा है.

ये भी पढ़ें-  शादी का झांसा देकर IAS अफसर ने MBBS छात्रा का किया यौन उत्पीड़न, बच्चा होने के बाद हो गया फरार

WATCH LIVE TV