इस जगह सामने आया कुदरत का करिश्मा, बर्फबारी के बीच उबलते पानी का अद्भुत स्रोत

जोशीमठ से कुछ दूरी पर तपोवन में ऊपर पहाड़ पर बहने वाला पानी मानों चिपक गया है. उसी के ठीक नीचे उबलता पानी का रहस्य राज बना हुआ है, पूरे इलाके में तापमान माइनस में चला चल रहा है,और यहां पर जमीन के अंदर से निकलता खोलता गर्म पानी निकल रहा है.

इस जगह सामने आया कुदरत का करिश्मा, बर्फबारी के बीच उबलते पानी का अद्भुत स्रोत
जमीन के अंदर से निकलता खोलता गर्म पानी आज तक एक रहस्य है

पुष्कर चौधरी​/चमोली: इस समय चमोली जिला पूरी तरह से शीतलहर की चपेट में है और यहां हर तरह बर्फ और जगह-जगह नाले और पानी जमने की तस्वीरें सामने आ रही हैं. इन सब के बीच कुदरत का शानदार नजारा यहां देखने को मिल रहा है, सबसे बड़ी बात इसी जमीन पर जहां एक तरफ पहाड़ पर बहता पानी पूरी तरह से जम चुका है, वहीं नीचे जमीन पर खोलते गर्म पानी का स्रोत इस समय पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. जहां दिन में लोग औली में जबरदस्त वर्ष का आनंद ले रहे हैं वही दोपहर के बाद तपोवन में खोलते पानी के स्रोत में पर्यटकों का तांता लग रहा है. 

जहां औली में जबरदस्त बर्फ में पर्यटक मस्ती कर रहे हैं, वही यहां हर जगह पानी जस का तस जम चुका है. वहीं जोशीमठ से कुछ दूरी पर तपोवन में ऊपर पहाड़ पर बहने वाला पानी मानों चिपक गया है और पूरी तरह से पाला बन चुका है जिसके वजह से  पहाड़ दूर से ही चमक रहा है. उसी के ठीक नीचे उबलता पानी का रहस्य राज बना हुआ है, पूरे इलाके में तापमान माइनस में चला चल रहा है,और यहां पर जमीन के अंदर से निकलता खोलता गर्म पानी का अद्भुत स्रोत है. यह आज तक एक रहस्य है कि पानी कहां से निकल रहा है और कैसे निकल रहा है? यह पूरा खौलता पानी जमीन के अंदर से ऊपर को ताकत लगाते हुए निकल रहा है और पूरी गर्माहट के साथ यहां पर सर्दी का बिल्कुल भी एहसास नहीं हो रहा है. पर्यटक यहां पहुंचकर इस गर्म पानी के स्रोत में अंडे बांधकर डाल रहे हैं और उन्हें उबालकर खा रहे हैं. महज 10 मिनट में बिना मेहनत के अंडे उबल रहे हैं इसी जमीन पर ऊपर पहाड़ पूरी तरह से पानी जमा हुआ है और पाला दिखाई दे रहा है लेकिन नीचे खौलता उबलता जल लोगों का आकर्षण का केंद्र इस समय बना हुआ है हर कोई सोच रहा है जहां एक तरफ बर्फ ही बर्फ दिखाई दे रही है तापमान इतना गिर गया है कि सर्दी शरीर को चीर रही है लेकिन यहां पर यह उबलता खौलता पानी अगर हाथ डाले तो पूरी तरह से जला रही है कुदरत के अनेकों रंग इस समय जोशीमठ में दिखाई दे रहा है जहां औली में बर्फ ही बर्फ है जहां पहाड़ों पर पानी पाला बन चुका है हर तरफ बर्फ और पाली का कब्जा है वही जोशीमठ के तपोवन में उबलता खोलता पानी का स्रोत है जिसे देखने पर्यटक दूर-दूर से इस समय यहां पहुंच रहे हैं,

बता दें कि औली में बीते दिनों तापमान माइनस 12 तक लुढ़क गया था, लेकिन अब तापमान में बढ़त होने से काफी राहत है, लेकिन अभी भी औली में न्यूनतम तापमान माइनस 7 डिग्री है, और जोशीमठ में माइनस 1 से 2 के करीब तापमान पहुंच रहा है. हालांकि ठंड अभी भी चरम पर है लेकिन तपमान में बढ़ने से थोड़ी राहत मिली है. मगर पानी ऑज भी जस का तस है जहां औली रोड़ पर बहने वाला नाला पूरी तरह से जमा हुआ है वहीं यहां पर्यटक जमकर बर्फ में आनंद उठा रहे हैं. नए साल के लिए यहां पर्यटकों का आना लगातार जारी है, हर तरफ बर्फ, पाला और पर्यटक फैले हुए हैं. जिसके चलते पर्यटकों को जाम का सामना भी करना पड़ रहा है, लेकिन धूप ढलते ही यहां रहना मुश्किल हो रहा है जिसके चलते लोग कमरों में ही रहना पसंद कर रहे हैं.