झारखंड के हाथ से फिसलते ही उत्तराखंड BJP खेमे में 2022 को लेकर अभी से बढ़ी चिंता

त्रिवेंद्र रावत सरकार में मंत्री डॉ. धन सिंह रावत भी मानते हैं कि अब बीजेपी को नए सिरे से जनता के बीच अपनी पैठ बनानी होगी. 

झारखंड के हाथ से फिसलते ही उत्तराखंड BJP खेमे में 2022 को लेकर अभी से बढ़ी चिंता

कुलदीप नेगी/देहरादून: 2019 का साल जाते-जाते बीजेपी को हार देकर गया. नागरिकता कानून के विरोध के बीच बीजेपी के हाथ से एक और राज्य की सत्ता चली गई है. वहीं, झारखंड के नतीजों के बाद बीजेपी शासित प्रदेशों में चिंता के बादल मडराने लगे हैं. यही वजह है कि बदले हुए सियासी हालतों में उत्तराखंड में बीजेपी नेताओं को अभी से ही 2022 की चिंता सताने लगी है. 

बीजेपी ने विधायकों को और ज्यादा सक्रिय रहने की दी नसीहत 
केंद्र में सरकार होने के बावजूद 2017 से लेकर झारखंड तक हरियाणा को छोड़कर एक-एक कर बीजेपी के हाथ से राज्य खिसकते चले जा रहे हैं. ऐसे में प्रदेश भाजपा के नेताओं और विधायकों की चिंता भी बढ़नी लाजमी है. भाजपा प्रदेश महामंत्री खजानदास का कहना है कि झारखंड की हार हतोत्साहित करने वाली है. लिहाजा, इस पर चिंतन की आवश्यकता है. इतना ही नहीं, खजान दास ने विधायकों को और ज्यादा सक्रिय रहने की नसीहत भी दी है. साथ ही मंत्रियों को अपने काम में और तेजी लाने की बात कही है. 

झारखंड के चुनावी नतीजे हैं चेतावनी- बीजेपी नेता खजानदास
खजानदास झारखंड के चुनावी नतीजों को एक चेतावनी के तौर पर मानते हैं और साथ ही पार्टी के लिए इसे एक चुनौती के तौर पर भी देख रहे हैं. यही नहीं बीजेपी प्रदेश महामंत्री का कहना है कि 2022 के लिए अभी से ही रणनीति बनाकर जनता के बीच जाना पड़ेगा और उनकी समस्याओं को सुनकर जल्द निस्तारण भी करना पड़ेगा.

2022 की लड़ाई के लिए बीजेपी चलाएगी जमीनी स्तर पर अभियान
त्रिवेंद्र रावत सरकार में मंत्री डॉ. धन सिंह रावत भी मानते हैं कि अब बीजेपी को नए सिरे से जनता के बीच अपनी पैठ बनानी होगी. इसके लिए जमीनी स्तर पर अभियान भी चलाना पड़ेगा. जिस तरीके से पूरा विपक्ष बीजेपी के खिलाफ एकजुट हो रहा है, ऐसे में बीजेपी को भी तैयारियों में तेजी लानी होगी. हालांकि, धन सिंह रावत उत्तराखंड के सदर्भ में ये भी कह रहे हैं कि उत्तराखंड चुनावों में अभी बहुत वक्त है. अभी हवा बीजेपी के पक्ष में है. उत्तराखंड में अभी तक जितने चुनाव हुए हैं, जीत बीजेपी की हुई है. डॉ. धन सिंह रावत  ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को लोकप्रिय सीएम बताते हुए कहा कि जनता उनके साथ है.

(संपादन - दिव्यांश शर्मा)